Home » इंडिया » Soni Sori refuse Y category security cover
 

सोनी सोरी को नहीं चाहिए वाइ श्रेणी की सुरक्षा

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 February 2016, 17:09 IST

आप नेता और सामाजिक कार्यकर्ता सोनी सोरी ने छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा दी गई 'वाइ श्रेणी' की सुरक्षा को अस्वीकार कर दिया है. सोरी ने सुरक्षा लेने से इंकार करते हुए कहा कि 'उनकी पार्टी में सरकारी सुविधाएं लेने की परंपरा नहीं है.'

इससे पहले छत्तीसगढ़ सरकार आम आदमी पार्टी की नेता सोनी सोरी पर हमले के बाद उन्हें वाइ श्रेणी की सुरक्षा देने का निर्णय किया था. सोना सोरी इस समय दिल्ली के अपोलो अस्पताल में अपना इलाज करा रही है. 

पढ़ें: आप नेता सोनी सोरी पर हमला, चेहरे पर ग्रीस पोता

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक छत्तीसगढ़ सरकार के अधिकारियों ने बताया कि आम आदमी पार्टी की नेता सोनी सोरी को राज्य शासन ने उन पर हुए हमलों को देखते हुए वाइ श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराने का फैसला लिया था.

कुछ दिन पहले सोनी सोरी पर अज्ञात लोगों ने जानलेवा हमला कर दिया था. उन्हें काफी समय से जान से मारने की धमकी दी जा रही है. इसकी शिकायत पुलिस से की गई थी, लेकिन पुलिस ने सोरी को सुरक्षा प्रदान नहीं की.

गौरतलब है कि इस महीने की 20 तारीख को सोनी सोरी शनिवार को अपने दो अन्य साथियों के साथ जगदलपुर से अपने गांव गीदम के लिए मोटरसाइकल से रवाना हुई थी.

सोरी बस्तानार घाट पार करने के बाद जब जवांगा गांव के करीब पहुंची तभी कुछ मोटरसाइकल सवार लोगों ने उन्हें घेर लिया और उनके साथ धक्कामुक्की करते हुए उनके चेहरे पर काले रंग का कोई केमिकल पोत दिया.

इस मामले में पुलिस अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है. आम आदमी पार्टी के प्रदेश संयोजक संकेत ठाकुर ने आरोप लगाया है कि बस्तर में मानवाधिकार उलंघन के मामलों को उठाने के कारण सोरी पर हमला किया गया है. दंतेवाड़ा जिला निवासी सोनी सोरी को नक्सली सहयोगी होने के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था.

बाद में वह जमानत पर रिहा हो गई. शिक्षिका सोरी बाद में आम आदमी पार्टी में शामिल हो गई और साल 2014 के लोकसभा चुनाव में वह आम आदमी पार्टी की टिकट से बस्तर लोकसभा क्षेत्र से चुनाव भी लड़ी थी. हालांकि वह यह चुनाव हार गई थी.

First published: 24 February 2016, 17:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी