Home » इंडिया » Soni Sori's national flag supported by agni
 

सोनी सोरी की तिरंगा यात्रा के समर्थन में अब अग्नि भी

राजकुमार सोनी | Updated on: 6 August 2016, 7:58 IST
(कैच न्यूज)

छत्तीसगढ़ के बस्तर में माओवाद के खिलाफ निर्णायक युद्ध के लिए गठित किए गए एक्शन ग्रुप फॉर नेशनल इंटिग्रिटी (अग्नि) संगठन ने अब यू टर्न ले लिया है. इस संगठन से जुड़े सभी सदस्य आदिवासी नेत्री सोनी सोरी की तिरंगा यात्रा का लगातार विरोध कर रहे थे, लेकिन अब उनका इरादा बदल गया है. संगठन के संयोजक आनंद मोहन मिश्रा ने कहा है कि यदि सोनी सोरी तिरंगे की आड़ लेकर माओवाद को बढ़ावा देती है तो उसका विरोध किया जाएगा, लेकिन यदि वे धुर माओवाद प्रभावित गोमपाड़ इलाके में तिरंगा फहराना चाहती है तो उन्हें रोका नहीं जा सकता है.

इधर तिरंगा यात्रा के संयोजक संकेत ठाकुर ने अग्नि के समर्थन को दिखावा करार दिया है. ठाकुर ने कहा कि अग्नि से जुड़े लोगों ने ही आतंकी गतिविधियों में लिप्त लोगों के आगमन की अफवाह फैलाई थी. अब उनका समर्थन कई संदेहों को जन्म देता है. ठाकुर ने आशंका जताई कि चूंकि अग्नि से जुड़े लोग सीधे तौर पर पुलिस के लिए काम करते हैं इसलिए वे माओवादियों की आड़ लेकर गड़बड़ी पैदा कर सकते हैं और यात्रा को बदनाम कर सकते हैं.

एहसान नहीं कर रही सोरी

सोरी की तिरंगा यात्रा को माओवाद समर्थित बताने वाले आनंद मोहन मिश्रा ने कहा कि तिरंगा हमारी आन-बान-शान का प्रतीक है और इस पर हम सबका अधिकार है. यदि कोई तिरंगा लेकर यात्रा निकालता है या तिरंगा फहराता है तो वह एहसान नहीं करता. सोनी सोरी भी एहसान नहीं कर रही है. तिरंगा यात्रा के विरोध के सवाल पर मिश्रा ने कहा कि अग्नि देशभक्तों का संगठन है. आगे-पीछे सब कुछ सोचना पड़ता है. जब सोनी सोरी का हृदय परिवर्तन हो सकता है तो फिर उनका संगठन तिरंगा फहराने का विरोध कैसे कर सकता है.

देश के कई दिग्गजों का समर्थन

आदिवासियों पर लगातार हो रहे सरकारी दमन के खिलाफ निकाली जाने वाली इस यात्रा को सामाजिक कार्यकर्ता हिमांशु कुमार, तीस्ता सीतलवाड़, दयामनी बारला, एसआर दारापुरी, प्रिया पिल्लई, कैलाश मीणा, अनिल चौधरी, डाक्टर सुनीलम, कविता कृष्णन, मैथ्यू जैकब, जॉन दयाल, विजय प्रताप, आनंद स्वरूप वर्मा, जीतेद्र चाहर, ईशा खंडेलवाल, शालिनी गेरा, डॉ लाखन सिंह, अशोक श्रीमाली, बमांग टैगो, आखिला, सुरेंद्र भगत सहित सामाजिक सरोकारों से जुड़े कई दिग्गजों ने अपना समर्थन दिया है.

गोमपाड़ में फहराया जाएगा तिरंगा

सोनी की तिरंगा यात्रा नौ अगस्त को दंतेवाड़ा से शुरू हो रही है. यात्रा 15 अगस्त की सुबह उस गोमपाड़ गांव में पहुंचेगी जहां पिछले दिनों सुरक्षाबलों ने मड़कम हिड़मे नाम की एक युवती को माओवादी बताकर मुठभेड़ में मार गिराने का दावा किया था.

हिड़मे की मौत के बाद इस बात पर हो-हल्ला मचा कि सुरक्षाबलों ने उसके साथ दुष्कर्म किया था. सोनी सोरी का कहना है कि जो लोग यात्रा में शामिल होंगे वे दंतेवाड़ा से गोमपाड़ के बीच आने वाले उन डेढ़ सौ गांव की हालात से भी वाकिफ हो सकते हैं जहां पुलिस ने बर्बरता की है.

गौरतलब है कि इन गांवों में रहने वाले ग्रामीणों के आधार व राशनकार्ड पुलिस ने अपने पास जब्त कर रखें हैं. ग्रामीण बताते हैं कि ऐसा सुरक्षाबल और पुलिस वाले इसलिए करते हैं ताकि कभी अगर उन्हें माओवादी बताकर मारना या गिरफ्तार करना हो तो आसानी रहे.

First published: 6 August 2016, 7:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी