Home » इंडिया » Sonia Gandhi: There can be no compromise on matters relating to national security, Terrorism must be dealt with firmly and forcefully
 

सोनिया गांधी: कश्मीर में पटरी से नहीं उतरनी चाहिए राजनैतिक प्रक्रिया, हालात दुखद

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 July 2016, 13:09 IST
(फाइल फोटो)

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कश्मीर घाटी के हालात पर गहरी चिंता जाहिर की है. सोनिया गांधी ने कहा है कि निर्दोष नागरिकों का मारा जाना दुखद है. घाटी में पिछले चार दिन से जारी हिंसक घटनाओं में 23 लोगों की मौत हो चुकी है.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, "पिछले कुछ दिनों के दौरान कश्मीर घाटी के अलग-अलग हिस्सों में इतने सारे निर्दोष लोगों की मौत होना गहरे दुख का विषय है." 

'आतंकवाद से सख्ती से निपटें'

साथ ही सोनिया गांधी ने कहा, "राष्ट्रीय सुरक्षा के मसलों पर कोई समझौता नहीं होना चाहिए. आतंकवाद से सख्ती और बलपूर्वक निपटा जाना चाहिए."

पढ़ें: कश्मीर हिंसा: अब तक 23 लोगों की मौत, हजारों अमरनाथ यात्री फंसे

कश्मीर घाटी में शुक्रवार रात से जारी हिंसक विरोध प्रदर्शन के बाद हालात बिगड़ गए हैं. वहीं राज्य की स्थिति पर चर्चा के लिए केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह आज गृह मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं.

'दो दशक में काफी आगे बढ़े'

कांग्रेस अध्यक्ष ने बातचीत प्रक्रिया को लेकर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, "पिछले दो दशक के दौरान जम्मू-कश्मीर में राजनैतिक प्रक्रिया काफी आगे बढ़ी है, लिहाजा यह अब पटरी से नहीं उतरनी चाहिए."

शुक्रवार को सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ के दौरान हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी बुरहान वानी समेत तीन आतंकियों को मुठभेड़ के दौरान मार गिराया था. इसके बाद घाटी में हालात बिगड़ गए हैं.

पढ़ें: 69 सेकेंड में जानें बुरहान वानी की पूरी कहानी

हुर्रियत कॉन्फ्रेंस ने बुरहान वानी के जनाजे में ज्यादा से ज्यादा लोगों के शामिल होने की अपील की थी. इसके बाद से हिंसक प्रदर्शन का सिलसिला जारी है. कई इलाकों में कर्फ्यू लगा हुआ है, जबकि मोबाइल और इंटरनेट सेवा को भी घाटी के कुछ इलाकों में प्रतिबंधित किया गया है.

पढ़ें: उमर अब्दुल्ला: बंदूक उठाने वाला बुरहान न तो पहला, न आखिरी

First published: 11 July 2016, 13:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी