Home » इंडिया » Sonu Nigam insulted Constitution of India, must leave country
 

सोनू निगम पर फतवा जारी करने वाले मौलवी फिर बरसे, 'सरेआम माफी मांगें आैर देश छोड़ दें सोनू'

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 April 2017, 10:14 IST

मौलवी सैयद शा अतीफ अली अल कादरी ने वीरवार को दावा किया कि बॉलीवुड गायक सोनू निगम ने धर्मस्थलों पर लाउडस्पीकरों के इस्तेमाल को लेकर अपनी टिप्पणी से संविधान का अनादर किया है. उन्हें देश छोडऩे के बारे में विचार करना चाहिए.

पश्चिम बंगाल अल्पसंख्यक संयुक्त परिषद के उपाध्यक्ष कादरी ने कहा कि सोनू निगम ने देश के संविधान का अपमान किया है. उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उन्होंने अजान के बारे में बोलकर कई भारतीयों की धार्मिक भावनाएं आहत की हैं. उन्हें यह स्वीकार करते हुए जल्द से जल्द माफी मांगनी चाहिए कि उन्होंने गलती की है. उन्होंने कहा कि नहीं तो निगम को 10 लाख रुपए इनाम लेने के लिए मेरे द्वारा तय की गई अन्य शर्तें पूरी करनी चाहिए.

कादरी ने कहा कि सोनू ने अपना सिर मुंडवा लिया है. यद्यपि उन्हें अभी वह 2 चीजें और करने की जरूरत है जो मैंने कही थी, जूते की माला पहनना और देश का दौरा करना. जब वह ये दो काम पूरे कर लेंगे मैं एक संवाददाता सम्मेलन करूंगा और उन्हें चेक सौंप दूंगा.

18 अप्रैल को कादरी ने घोषणा की थी कि जो कोई भी गायक सोनू निगम का सिर मुंडायेगा, उनके गले में फटे जूतों की माला पहनाएगा और उन्हें देशभर में घुमाएगा वह उसे 10 लाख रुपए का इनाम देंगे. इसके बाद बॉलीवुड गायक ने एक संवाददाता सम्मेलन में अपना सिर मुंडवा लिया था और मीडिया से कहा कि जिस मौलवी ने उनके खिलाफ फतवा जारी किया था उसको अब नाई को 10 लाख रुपए देने चाहिए.

First published: 21 April 2017, 8:41 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी