Home » इंडिया » sp chief mulayam singh yadav appoints amar singh party's general secretary
 

अमर सिंह समाजवादी पार्टी के महामंत्री, संगठन में हुए मज़बूत

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 September 2016, 18:03 IST
(फाइल फोटो )
QUICK PILL
  • समाजवादी पार्टी में राज्यसभा सांसद अमर सिंह को संगठन में बड़ी भूमिका देते हुए महामंत्री बनाया गया है. यादव परिवार में जारी कलह में अखिलेश ने अमर सिंह को बाहरी बताया था, वहीं मुलायम सिंह यादव ने सिंह को पद देकर अब और ताक़तवर कर दिया है.
  • मुलायम सिंह यादव के परिवार में सुलह के बाद शिवपाल यादव ने फौरी कार्रवाई करते हुए सीएम अखिलेश यादव के छह भरोसेमंद नेताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया था. इसे संगठन पर शिवपाल यादव की पुख्ता पकड़ के तौर पर देखा गया था.

राज्यसभा सांसद अमर सिंह को समाजवादी पार्टी का महामंत्री बनाया गया है. सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने उन्हें महामंत्री पद पर नियुक्त करते हुए उम्मीद जताई है कि वह उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी को मज़बूत बनाने का काम करेंगे. उनसे यह आशा भी की गई है कि वह चुनाव में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे. इससे पहले अमर सिंह समाजवादी पार्टी में महासचिव के पद पर रह चुके हैं.

लंबे समय तक समाजवादी पार्टी में रहने के बाद अमर सिंह ने जनवरी 2010 में सभी पदों से इस्तीफ़ा दे दिया था. इसके कुछ दिन बाद मुलायम सिंह ने उन्हें पार्टी से ही बर्खास्त कर दिया था. 

अलग अंदाज़ में राजनीति और बयान देने के लिए मशहूर अमर सिंह ने इसके बाद अपनी पार्टी बनाकर 2012 के विधानसभा चुनाव में 360 सीटों पर उम्मीदवार उतारे लेकिन जीत का खाता नहीं खुल सका.

इसी साल उनकी एंट्री समाजवादी पार्टी में दोबारा हुई और उन्हें राज्यसभा में भेजा गया. वह मुलायम और शिवपाल के करीबी माने जाते हैं लेकिन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनके समर्थक अमर सिंह को पसंद नहीं करते.

अमर सिंह विवादों की वजह से हमेशा सुर्खियों में रहते हैं. 2008 में उन्होंने उत्तर प्रदेश की तत्कालीन मुख्यमंत्री मायावती पर अपनी पार्टी के छह सांसदों के अपहरण का आरोप लगाया था. इसके बाद बटला हाऊस एनकाउंटर में शहीद हुए इंस्पेक्टर मोहन चंद्र शर्मा की पत्नी को 10 लाख का चेक दिया था जो बाद में बाउंस कर गया था. इसी प्रकरण में उन्होंने बाद में मुठभेड़ पर सवाल उठाते हुए न्यायिक जांच की मांग की थी.

समाजवादी पार्टी में दोबारा एंट्री करने के बाद भी विवादों ने उनका पीछा नहीं छोड़ा. हाल ही में मुलायम परिवार में चल रहे पारिवारिक घमासान में भी उनकी भूमिका पर उंगलियां उठने लगीं. महासचिव रामगोपाल यादव और सीएम अखिलेश ने सीधे उनपर हमला किया. उनपर अंबानी बंधुओं और बच्चन परिवार में भी मतभेद पैदा करने के आरोप लगते रहे हैं.

First published: 20 September 2016, 18:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी