Home » इंडिया » sp mla alleged to mp dharmendra yadav in corruption
 

सपा विधायक को मुलायम के सांसद भतीजे से जान का खतरा

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 August 2016, 15:20 IST
(पत्रिका)

एक तरफ तो अगले साल यूपी में विधानसभा चुनाव होने वाला है और दूसरी ओर सत्ताधारी समाजवादी सरकार मुश्किलों में फंसती जा रही है.

ताज़ा मामला बदायूं का है. जहां से सपा के एमएलए और राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त आबिद रजा और उनकी पत्नी फातिमा ने अपनी सपा सरकार के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया है. 

सपा एमएलए आबिद रजा ने कथित रूप से सीएम अखिलेश यादव के चचेरे भाई और बदायूं से सांसद धर्मेंद्र यादव पर गोकशी का गंभीर आरोप लगाया है. इसके साथ ही आदिब ने यह भी कहा की उन्हें और उनकी पत्नी फातिमा को सांसद धर्मेंद्र यादव से जान का खतरा है.

उनका आरोप है कि कथित तौर पर सांसद के गुर्गे उनके घर के आसपास रेकी कर रहे हैं. इससे पहले तीन अगस्त को भी आबिद रजा ने बाकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर संसद धर्मेंद्र यादव पर हमला बोला था.

लेकिन उस प्रेस कॉन्फ्रेंस में रज़ा ने धर्मेंद्र यादव का नाम नहीं लिया था. उन्होंने परोक्ष तौर पर गोकशी, अवैध खनन  और बिजली की अंडर ग्राउंड लाइन के काम में भ्रष्टाचार के लिए धर्मेंद्र यादव को जिम्मेदार ठहराया था.

उन्होंने कहा था कि पिछले साढ़े चार साल में बदायूं का विकास तो नहीं हुआ. लेकिन सफेदपोश नेता का आर्थिक विकास जरूर हुआ.

आबिद रजा वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष भी हैं. उन्होंने कहा है कि अगर उनकी मांगों पर सरकार ने कोई एक्शन नहीं लिया तो वह वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष पद से भी इस्तीफा दे देंगे

गौरतलब है की मुलायम सिंह के भतीजे और सांसद धर्मेंद्र यादव के एक करीबी रिश्तेदार बदायूं में 133 करोड़ की लागत से अंडरग्राउंड केबलिंग का काम करा रहे हैं. जिसके तहत बदांयू शहर में 80 करोड़ का काम हो रहा है.

वहीं आबिद की पत्नी फातिमा रजा बदायूं की नगर पालिका अध्यक्ष हैं. उनका आरोप है कि इस काम के लिए उनसे सलाह तक नहीं ली गई और केबलिंग का काम मानकों और प्रावधानों के मुताबिक भी नहीं हो रहा है.

इसके साथ ही फातिमा रजा ने अखिलेश सरकार पर आरोप लगाया की नगर पालिका ने शहर की सड़कों की मरम्मत के लिए उन्होंने 24 करोड़ मांगे थे, लेकिन सरकार ने उन्हें ये पैसा नहीं दिया. यही कारण  है कि सपा एमएलए आबिद रजा और सपा एमपी धर्मेंद्र यादव के बीच में मतभेद हो गया.

इस पूरे प्रकरण में सबसे दिलचस्प बात है की सपा सांसद धर्मेंद यादव पर आरोप लगाए जाने के खिलाफ समाजवादी युवजन सभा के कार्यकर्ताओं ने अपनी ही पार्टी के एमएलए का पुतला फूंक रहे हैं. बदायूं युवजन सभा का आरोप है कि आबिद नगर निगम के कामों में कमीशन न मिलने से नाराज हैं. जिसकी वजह से वो धर्मेंद्र यादव पर गलत और भ्रामक आरोप लगा रहा है.

First published: 7 August 2016, 15:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी