Home » इंडिया » SP War: CM Akhilesh Snatched three ministries from shivpal
 

सपा संग्राम: अध्यक्ष पद से हटाए जाने पर सीएम अखिलेश ने छीने चाचा शिवपाल से तीन अहम मंत्रालय

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 September 2016, 11:29 IST
(पत्रिका)

अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले यूपी में सियासी संकट गहराता जा रहा है. समाजवादी पार्टी के अंदर चल रही चाचा-भतीजे की लड़ाई अब खुलकर सामने आ गई है.

सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह ने शिवपाल यादव को प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया तो दूसरी ओर सीएम अखिलेश यादव ने शिवपाल से तीन अहम मंत्रालय छीन लिए. इसको लेकर शिवपाल यादव ने बुधवार सुबह प्रेस कांफ्रेंस की.

मुलायम सिंह यादव द्वारा समाजवादी पार्टी का नया प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने पर शिवपाल यादव ने कहा कि नेताजी ने जो जिम्मेदारी दी है उसे निभाऊंगा. वहीं, मंत्री पद से हटाए जाने पर उन्होंने कहा कि ये मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है. वो जिसे चाहे रख सकते हैं, जिससे चाहे सलाह ले सकते हैं, ये उनका अधिकार है. 

इस्तीफे के सवाल पर शिवपाल यादव ने कहा कि इसका फैसला वे नेताजी से मिल कर करेंगे. हालांकि उन्‍होंने यह भी कहा कि किसी के साथ अन्‍याय नहीं होना चाहिए.

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने मंगलवार को देर शाम अचानक समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश यादव के स्थान पर कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव को समाजवादी पार्टी का नया प्रदेश अध्यक्ष बना दिया था.

इसके दो घंटे बाद ही मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शिवपाल को सभी अहम मंत्रालयों- लोक निर्माण (पीडब्ल्यूडी), राजस्व और सिंचाई से हटाकर उन्हें समाज कल्याण के साथ भूमि विकास एवं जल संसाधन का कार्यभार सौंप दिया था.

अखिलेश ने पीडब्ल्यूडी विभाग अपने पास रखा है. उन्होंने सिंचाई विभाग अवधेश प्रसाद को और राजस्व एवं सहकारिता विभाग बलराम यादव को दे दिया है.

इस सियासी लडा़ई के बीच सैफई में बुधवार को शिवपाल के समर्थन में नारेबाजी भी हुई. इस बीच, अखिलेश मंत्रिमंडल से हटाए गए मंत्री गायत्री प्रजापति बुधवार को नई दिल्ली में मुलायम सिंह से मिले. 

दूसरी तरफ शिवपाल यादव ने लखनऊ जाने का अपना कार्यक्रम रद्द कर दिया है. बताया जा रहा है कि शिवपाल यादव दिल्ली में मुलायम सिंह यादव से मिलने जा सकते हैं. सीएम आवास पर बैठक के बाद अखिलेश यादव के भी दिल्ली रवाना होने की संभावना है.

First published: 14 September 2016, 11:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी