Home » इंडिया » SSC Scam 2018: Rajnath singh said to stop the protest as they have accepted the CBI inquiry for the caase
 

SSC पेपर लीक मामला: राजनाथ सिंह के CBI जांच के आश्वासन के बावजूद छात्रों ने नहीं रोका प्रदर्शन

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 March 2018, 13:55 IST

बीते कई दिनों से एसएससी स्कैम के लिए सीबीआई जांच की मांग पर अड़े छात्रों को कुछ रहत की खबर मिली थी. एसएससी केंद्रीय गृह मंत्रालय के हस्तक्षेप के बाद 21 फरवरी को हुई परीक्षा में कथित पेपर लीक की जांच सीबीआई से करवाने पर राजी हो गया है.

हालांकि परीक्षार्थी 17 से 22 फरवरी तक हुए कम्बाइंड ग्रेजुएट लेवल टीयर-2 की सभी परीक्षाओं की सीबीआई जांच की मांग पर अड़े हुए हैं. उन्होंने सभी मांगें नहीं माने जाने तक आंदोलन जारी रखने का फैसला किया है.

छात्रों के इस आंदोलन को लेकर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा की अब छात्रों को आंदोलन वापस ले लेना चाहिए. हमने धरना दे रहे छात्रों की मांग को स्वीकार कर लिया है. इस मामले की सीबीआई जांच करवाई जाएगी.

ये भी पढ़ें-  SSC घोटाला: CBI जांच की मांग पर अड़े छात्रों को मिला अन्ना हजारे का साथ, मिलने पहुंचे

बता दें कि पिछले 6 दिन से सैकड़ों छात्र सीजीओ कॉप्लेक्स स्थित एसएससी ऑफिस के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं. इसी मामले को देखते हुए केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को एसएससी अध्यक्ष असीम खुराना को तलब किया. दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने भी छात्रों के साथ गृह मंत्री से मुलाकात की. परीक्षार्थियों गृह मंत्री को अपनी मांगों से अवगत कराया.

वहीं गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने छात्रों के साथ नाइंसाफी ना होने की बात कही है. एसएससी अध्यक्ष खुराना ने एक बयान में कहा कि आयोग 21 फरवरी को हुई परीक्षा में कथित रूप से पेपर लीक के आरोपों की जांच के लिए सीबीआई जांच की सिफारिश करने को तैयार है.

ये भी पढ़ें- SSC Scam 2018: सीबीआई जांच के लिए तैयार आयोग, फिर भी जारी रहेगा छात्रों का आंदोलन

क्या हैं छात्रों की मांगें
प्रदर्शन कर रहे छात्रों मांग कर रहे हैं कि 17 से 22 फरवरी तक हुए कम्बाइंड ग्रेजुएट लेवल टीयर-2 की सभी परीक्षाओं की सीबीआई जांच कराई जाए. साथ ही परीक्षा करवाने वाले वेंडर्स को तत्काल बदला जाए.

छात्र एसएससी परीक्षाओं के संदर्भ में पांच छात्रों की कमेटी बनाकर आयोग की मान्यता चाहते हैं. ताकि परीक्षा में नए सुधारों के बारे में कमेटी आयोग को सुझाव दे सके. छात्रों का कहना है कि उनकी शिकायतों का तुरंत जवाब दिया जाए और सिस्टम को पारदर्शी बनाया जाए.

छात्र एसएससी परीक्षाओं के संदर्भ में पांच छात्रों की कमेटी बनाकर आयोग की मान्यता चाहते हैं. ताकि परीक्षा में नए सुधारों के बारे में कमेटी आयोग को सुझाव दे सके. छात्रों का कहना है कि उनकी शिकायतों का तुरंत जवाब दिया जाए और सिस्टम को पारदर्शी बनाया जाए.

First published: 5 March 2018, 13:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी