Home » इंडिया » state bjp: jadavpur university a hub of anti national elements
 

बीजेपी: जाधवपुर यूनीवर्सिटी ‘देश विरोधी तत्‍वों का गढ़’

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:50 IST
पश्चिम बंगाल की जाधवपुर यूनीवर्सिटी में शुक्रवार को विवेक अग्निहोत्री की फिल्‍म ‘बुद्धा इन ट्रैफिक जाम’ की स्‍क्रीनिंग के दौरान छात्रों के दो गुटों में जमकर मारपीट हुई. इस फिल्म में अभिनेता अनुपम खेर ने भी काम किया है.

इसके बाद पश्चिम बंगाल बीजेपी ने जाधवपुर यूनीवर्सिटी को ‘देश विरोधी तत्‍वों का गढ़’ बताते हुए छात्रों के ऊपर कई संगीन आरोप लगाए हैं.

पश्चिम बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, "जाधवपुर यूनीवर्सिटी में छात्रों का उपद्रव एक सामान्‍य बात बन गई है. सेंसर बोर्ड से पास एक फिल्‍म की स्‍क्रीनिंग कुछ उपद्रवी छात्रों ने गैरकानूनी ढंग से रोक दी."

लेफ्ट समर्थित छात्रसंघ पर निशाना


घोष ने कहा, "जाधवपुर यूनिवर्सिटी के सीपीएम और वाम समर्थित छात्रसंघों की आदत है कि वो अपने विचारधारा के खिलाफ किसी भी चीज का विरोध करते हैं. यह देश के लोकतांत्रिक ढांचे के बिलकुल खिलाफ है. हम इसकी घोर निंदा करते हैं."

छात्रों पर आरोप लगाते हुए घोष ने कहा, "जाधवपुर यूनीवर्सिटी देशद्रोहियों का अड्डा बनता जा रहा है. वाम समर्थित स्‍टूडेंट यूनियन देश विरोधियों के लिए जमीन तैयार कर रहे हैं. हम पहले भी यूनीवर्सिटी छात्रों के एक धड़े के द्वारा भारत विरोधी नारेबाजी की घटना देख चुके हैं."

कुलपति पर उठाए सवाल


छात्रों पर देशद्रोही होने का आरोप लगाते हुए दिलीप घोष ने यूनीवर्सिटी के वीसी पर भी गंभीर आरोप लगाए. घोष का कहना था कि वीसी कैंपस में कथित देशविरोधी तत्‍वों को लगातार समर्थन दे रहे हैं.

घोष ने मांग की है कि पूरे मसले में वीसी की भूमिका संदिग्ध है, लिहाजा उनकी भूमिका की भी जांच होनी चाहिए. शुक्रवार को जाधवपुर यूनीवर्सिटी के कैंपस में मारपीट के दौरान कुछ लड़कियों से भी कथित तौर पर छेड़छाड़ का मामला सामने आया है.

राज्यपाल ने बताया अशांति का केंद्र


घटना के बाद बीजेपी की नेता और टीवी अभिनेत्री रूपा गांगुली को यूनीवर्सिटी प्रशासन ने कैंपस में घुसने की इजाजत नहीं दी थी.

वहीं दूसरी ओर पश्चिम बंगाल के गवर्नर केसरीनाथ त्रिपाठी ने कहा है कि यूनीवर्सिटी तेजी से ‘अशांति का एक केन्द्र’ बनती जा रही है. इस मामले में संबंधित अधिकारियों को कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए.

राज्य द्वारा संचालित यूनीवर्सिटी का चांसलर उस राज्य का गवर्नर होता है. इस नाते राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी जाधवपुर यूनीवर्सिटी के चांसलर भी हैं.

First published: 7 May 2016, 4:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी