Home » इंडिया » Stop Misuse Of Armed Forces Work In Polls Ex-Navy Chief To Election Body
 

पूर्व नेवी चीफ ने चुनाव आयोग को लिखी चिट्ठी, कहा- सेनाओं का मतदाताओं को लुभाने के लिए इस्तेमाल ना करें

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 March 2019, 9:10 IST

पुलवामा हमले के बाद से सभी राजनीतिक पार्टियां आगामी चुनाव को लेकर सेना को एक मुद्दा बना लिया है. इसे लेकर इंडियन नेवी के पूर्व चीफ एडमिरल (रिटायर्ड) ने नाराजगी जताई. इस मुद्दे को लेकर उन्होंने चुनाव आयोग को एक चिट्ठी लिखा.

नेवी चीफ ने इस चिट्ठी में पुलवामा आतंकी हमले और बालाकोट एयर स्‍ट्राइक के बाद देश में पैदा हालातों पर चिंता जाहिर की है. इसके साथ ही उन्‍होंने फाइटर जेट्स के गिराने और इंडियन एयरफोर्स के पायलट को पकड़े जाने पर जारी बहस पर भी आपना आक्रोश जताया. 

पूर्व नेवी चीफ एडमिरल एल रामदास ने चुनाव आयोग से अपील की है कि राजनीतिक फायदे के लिए सेनाओं का इस्तेमाल बंद करवाया जाए.  रामदास ने चुनाव आयोग से अपील की है कि राजनीतिक दलों को पुलवामा हमला, बालाकोट की हवाई कार्रवाई और विंग कमांडर अभिनंदन के पाकिस्तान से वापस आने के मुद्दे को मतदाताओं को लुभाने के लिए इस्तेमाल करने से रोकना चाहिए. 

नेवी चीफ ने चुनाव आयोग के चीफ इलेक्‍शन कमिश्‍नर आयुक्त सुनील अरोड़ा को चिट्ठी लिखकर अपनी नाराजगी जताई.  उन्होंने चिट्ठी लिखकर पार्टियों द्वारा राजनीतिक फायदे के लिए सेनाओं के शौर्य का प्रयोग किए जाने की घटनाओं पर चिंता जाहिर की है. उन्होंने लिखा कि कुछ समय बाद चुनाव होने वाले हैं और ऐसे में खासतौर पर ये बात अहम है कि किसी भी राजनीतिक दल द्वारा मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए इन घटनाओं का प्रयोग नहीं किया जाना चाहिए. रामदास ने दो पेज की चिट्ठी लिखकर कहा कि सेनाएं जिस ढांचे, मूल्यों और माहौल से जुड़े होती हैं, वह गैर राजनीतिक और धर्मनिरपेक्ष रहा है.

Pak और भारतीय सेना के बीच नियंत्रण रेखा पर एक बार फिर गोलीबारी

First published: 9 March 2019, 9:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी