Home » इंडिया » Subodh Kumar Jaiswal, O P Singh front runners in CBI chief hunt
 

नए CBI निदेशक की दौड़ में हैं ये अफसर, मोदी का नाम भी शामिल

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 January 2019, 11:04 IST

आलोक वर्मा को सीबीआई निदेशक पद से हटाए जाने के बाद कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) ने सीबीआई के शीर्ष पद के लिए कुछ 10 महानिदेशक स्तर के आईपीएस अधिकारियों में से अगला सीबीआई निदेशक चुनने की कवायद शुरू कर दी है. इस सूची में 1983, 1984 और 1985 में चुने गए वरिष्ठ भारतीय पुलिस सेवा (IPS) अधिकारियों के नाम शामिल है.

फिलहाल इस दौड़ में सब आगे 1985-बैच के आईपीएस अधिकारी, मुंबई पुलिस आयुक्त सुबोध कुमार जायसवाल, उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओ.पी. सिंह और राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के प्रमुख वाई.सी. मोदी का नाम सबसे आगे है. DoPT द्वारा CBI निदेशक पद के लिए कम से कम तीन या चार अधिकारियों के नामों का चयन करने के बाद, उन्हें प्रधानमंत्री, भारत के मुख्य न्यायाधीश और लोकसभा में विपक्ष के नेता वाली समिति के पास भेजा जायेगा.

आलोक वर्मा का कार्यकाल 31 जनवरी को समाप्त होने वाला था और अब अंतिम निर्णय इस महीने के आखिरी सप्ताह के पहले या उसके बाद घोषित होने की उम्मीद है. गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा कि 17 अधिकारियों की एक सूची दिसंबर 2018 में CBI निदेशक के रूप में चयन के लिए DoPT को भेजा था.

एक अन्य अधिकारी ने नाम न छापने की मांग करते हुए बताया कि डीओपीटी भ्रष्टाचार के मामलों की जांच, सीबीआई में काम करने का पूर्व अनुभव, कैडर और ईमानदारी में सतर्कता के मामलों को संभालने जैसे मामलों के आधार पर अधिकारियों के नामों को सूचीबद्ध करने की प्रक्रिया में है.

सर्वोच्च न्यायालय द्वारा 2004 में तय किए गए दिशानिर्देशों के अनुसार इस ममले में चयन वरिष्ठता के आधार पर किया जाता है. 1983 बैच के अधिकारियों की सूची में केंद्रीय गृह मंत्रालय में विशेष सचिव (आंतरिक सुरक्षा) रीना मित्रा, यूपी के महानिदेशक ओपी सिंह और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के निदेशक शामिल है.

First published: 12 January 2019, 11:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी