Home » इंडिया » Subramanian swamy says that in subhash chandra both death russia former president stalin involved
 

सुब्रमण्यम स्वामी का दावा, सुभाष चंद्र बोस की हत्या में थी रूस के पूर्व राष्ट्रपति स्टालिन की भूमिका

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 September 2018, 10:50 IST
(File Photo)

सुभाष चंद्र बोस की हत्या के रहस्य पर राजनीति अभी तक खत्म नहीं हुई है. हाल ही में सुभाष चंद्र बोस की हत्या से जुड़ी फाइल्स को सार्वजानिक करने की मांग एक बार फिर उठी थी. ऐसे में ये अधिकार केंद्रीय सूचना आयोग ने गृह मंत्रालय और प्रधानमंत्री मोदी पर छोड़ दिया गया था. सुभाष चंद्र बोस की मौत को लेकर भारतीय जनता पार्टी के नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने दावा किया है कि बोस की मौत में रूस के पूर्व राष्ट्रपति जोसेफ स्टालिन की भूमिका थी. इसी के साथ उन्होंने ये भी कहा कि सुभाष चंद्र बोस की मौत 1945 में नहीं हुई थी. स्वामी ने कहा कि जैसा कि अधिकतर लोगों को लगता है कि बोस की मौत एक विमान हादसे में हुई थी ये सत्य नहीं है.

स्वामी ने सांस्कृतिक गौरव संस्था द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में इस बात का दावा किया. स्वामी ने कहा कि बोस ने रोस में शरण मांगी थी, और वहीं बाद में उनकी हत्या कर दी गई. जवाहरलाल नेहरू पर आरोप लगाते हुए स्वामी ने कहा कि बोस की मौत 1945 विमान हादसे में नहीं हुई थी. ये गलत तथ्य है जिसके पीछे जापानियों और नेहरू की साजिश है. बोस ने रूस में शरण मांगी थी जिसके बाद उनकी हत्या भी वहीं की गई. और इस बारे में जवाहर लाल नेहरू को सारी जानकारी थी.

इसी के साथ स्वामी ने ये भी दावा किया कि आजादी में बोस किक आजाद हिन्द सेना का बहुत बड़ा योगदान था. राम मंदिर के मामले में भी स्वामी ने कहा, '' उत्तर प्रदेश में राम मंदिर के निर्माण के लिए आगे के रास्ते और खुले हैं.''

प्रधानमंत्री मोदी खोलेंगे लाल बहादुर शास्त्री की मौत का रहस्य !

गौरतलब हैं कि पहले भी सुभाष चंद्र बोस की मौत से जुड़ी फाइल्स को सार्वजनिक करने की मांग उठती रही है. इस मामले में एक आरटीआई के जवाब में केंद्रीय सूचना आयोग ने पीएमओ और विदेश मंत्रालय के साथ ही गृह मंत्रालय को भी ये आदेश दिया है कि वे पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की मौत से जुड़े सारे दस्तावेजों को प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री के सामने रखा जाए. जिससे वो इस बारे में कोई फैसला ले सकें की इन जानकारियों को सार्वजनिक किया जाएगा या नहीं.

First published: 30 September 2018, 10:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी