Home » इंडिया » Subrata Roy Reached lucknow for mother last rites
 

लखनऊ: 26 महीने बाद सहारा शहर में सहाराश्री

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:50 IST

पैरोल पर जेल से रिहा होने के बाद सहारा इंडिया के मुखिया सुब्रत रॉय शुक्रवार को लखनऊ पहुंचे. गिरफ्तारी के 26 महीने बाद वो सहारा शहर में हैं. सुब्रत रॉय अपनी मां के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए आए हैं.

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर उन्हें चार हफ्ते के लिए पैरोल पर रिहा किया गया है. अमौसी एयरपोर्ट पर सुब्रत रॉय के करीबी उनका इंतजार कर रहे थे.

उनके करीबी भी एयरपोर्ट पर मौजूद थे. सुब्रत सहारा शुक्रवार रात विशेष विमान से लखनऊ एयरपोर्ट पहुंचे. जहां से वे सीधे गोमतीनगर स्थित सहारा शहर पहुंचे.

मां की अंत्येष्टि में होंगे शामिल

सहारा शहर में पहले से ही लोगों की भीड़ जुटी थी. इस दौरान सादी वर्दी में पुलिस वाले उनके साथ थी. सुब्रत रॉय ने हाथ जोड़कर सभी को सहयोग के लिए धन्यवाद दिया.

सुब्रत रॉय की मां 95 साल की मां छबि रॉय की गुरुवार देर रात मौत हो गई थी. उनका पार्थिव शरीर सहारा शहर में ही रखा गया है. परिवार के सभी लोग सहारा प्रमुख के इंतजार में बैठे थे.

पढ़ें:सुब्रत रॉय को चार हफ्ते की पैरोल, मां के अंतिम संस्कार में होंगे शामिल

सुब्रत रॉय को देखकर पत्नी सपना रॉय, बेटे सीमांतो और सुशांतो भावुक हो गए. गमगीन माहौल में परिवार के लोगों से मिलकर सुब्रत रॉय की आंखें नम हो गई. उन्होंने मां के पार्थिव शरीर के दर्शन किए. छबि रॉय का शनिवार को बैकुण्ठ धाम में अंतिम संस्कार किया जाएगा.

देश से बाहर जाने पर रोक

26 महीने बाद सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय दिल्ली की तिहाड़ जेल से बाहर आए हैं. निवेशकों का 24 हजार करोड़ रुपये न लौटाने के आरोप में वो चार मार्च 2014 से जेल में बंद थे.

चीफ जस्टिस ठीएस ठाकुर की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ ने सुब्रत रॉय के देश से बाहर जाने पर रोक लगाई है. हालांकि लखनऊ के अलावा हरिद्वार और गंगा सागर जाने की उन्हें इजाजत है.

First published: 7 May 2016, 1:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी