Home » इंडिया » Sugar Price may increase in festive season in india Modi government failing to control inflation
 

मोदी राज में त्योहारों के सीजन में कड़वी होगी चीनी, पकवान की मिठास पर भी पड़ेगी महंगाई की मार

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 October 2018, 10:42 IST

देश में एक तरफ जनता पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों से निजात नहीं पा रही है. अब त्योहारों के सीजन में मोदी सरकार चीनी के दामों में भी इजाफा करेगी. चीनी के दामों में होने वाली बढ़त का कारण चीनी की खपत का पूरा न हो पाना बताया जा रहा है. सरकार ने चालू महीने के लिए महज 22 लाख टन चीनी घरेलू बाजार में आपूर्ति करने की सीमा तय की है, जबकि खपत मांग तकरीबन 25 लाख टन हो सकती है.

इस मामले में चीनी कारोबारियों का कहना है कि त्योहारों के सीजन में चीनी की मांग बढ़ जाती है. चीनी की मांग बढ़ जाने के कारण खपत के मुकाबले आपूर्ति कम होने से कीमत बढ़ने की पूरी संभावना है. सरकार ने बीते महीने चीनी उधोग के लिए तकरीबन 5,500 करोड़ रुपये के रहत पैकेज का ऐलान किया था. इस राहत पैकेज की घोषणा के बाद से अब तक चीनी की कीमतों में लगभग 100 रुपये प्रति क्विंटल का इजाफा हुआ है.

Video: 86वां एयरफोर्स डे पर वायुसेना ने आसमान में फहराया तिरंगा, सुखोई-मिग विमानों ने दिखाया जलवा

इस मामले में दिल्ली के चीनी कारोबारी सुशील कुमार ने बताया कि अक्टूबर और नवंबर में देशभर में चीनी की खपत मांग तकरीबन 25 लाख टन प्रति महीना तक हो सकती है. क्योंकि इन दो महीनों में दुर्गापूजा और दीपावली दो बड़े त्योहार हैं. आगे उन्होंने बताया, ''सरकार द्वारा नए चीनी सीजन 2018-19 (अक्टूबर-सितंबर) के लिए गोदामों के दाम में मिलों को 13.88 रुपये प्रति क्विंटल की दर से उत्पादन प्रोत्साहन की घोषणा करने के बाद से लेकर अब तक चीनी के दाम करीब 100 रुपये की बढ़ोतरी हुई है.''

First published: 8 October 2018, 10:42 IST
 
अगली कहानी