Home » इंडिया » Interim parole of Subrata Roy extends till October 24th by Supreme Court
 

सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय को बड़ी राहत, 24 अक्तूबर तक बढ़ी पैरोल

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2017, 8:24 IST
(फाइल फोटो)

सहारा इंडिया के प्रमुख सुब्रत रॉय को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है. अदालत ने उनको मिली अंतरिम पैरोल की मियाद बढ़ा दी है. इससे पहले पिछली सुनवाई के दौरान अदालत ने उनको एक हफ्ते के अंदर सरेंडर करने का आदेश दिया था. 

निवेशकों से धोखाधड़ी के मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मार्च 2014 में सुब्रत रॉय को जेल जाना पड़ा था. इस साल मां के निधन के बाद सुप्रीम कोर्ट से उन्हें पैरोल मिल गई थी. 

200 करोड़ जमा कराने का आदेश

इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई हुई. अदालत ने सहारा सुप्रीमो की अंतरिम पैरोल 24 अक्टूबर तक के लिए बढ़ाने का आदेश दिया है. साथ ही कोर्ट ने इस अवधि के दौरान सुब्रत रॉय को 200 करोड़ रुपये जमा कराने के निर्देश दिए हैं.

सुप्रीम कोर्ट ने साथ ही सुब्रत रॉय के वकील से कहा है कि वह उस रौडमैप के बारे में बताएं कि भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) को करीब 12 हजार करोड़ रुपये कैसे अदा करेंगे?

पिछली सुनवाई में क्या हुआ था?

23 सितंबर को मामले की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने पहले सुब्रत रॉय को फौरन जेल भेजे जाने और उनकी पैरोल रद्द करने का आदेश दिया. सुब्रत रॉय ने अपने वकील की टिप्पणी पर बिना शर्त माफी मांगते हुए फैसला वापस लेने की अपील की थी.

जिसके बाद चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर ने अन्य जजों के साथ विचार-विमर्श किया. आखिरकार सहारा प्रमुख को सरेंडर के लिए एक हफ्ते की मोहलत मिल गई थी.

सुब्रत रॉय को उनकी मां के निधन के बाद अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए इसी साल छह मई को चार हफ्ते की पैरोल मिली थी. बाद में उनकी पैरोल की मियाद बढ़ती चली गई. पिछले साढ़े चार महीने से सुब्रत रॉय जेल से बाहर हैं.

4 मार्च 2014 को गए थे जेल

निवेशकों के 24 हजार करोड़ रुपये न लौटाने के आरोप में सहारा इंडिया परिवार के मुखिया सुब्रत रॉय पिछले दो साल से तिहाड़ जेल में बंद थे. मां के निधन के बाद सुब्रत रॉय ने सुप्रीम कोर्ट से लखनऊ जाने के लिए पैरोल मांगी थी. 

इससे पहले भी सुब्रत रॉय ने सुप्रीम कोर्ट में कई बार मां की खराब तबीयत का हवाला देते हुए जमानत की गुहार लगाई थी. सुब्रत रॉय 4 मार्च 2014 से जेल में बंद थे. सुब्रत रॉय के वकीलों ने गर्मी न सह पाने के कारण उन्हें जमानत देने की अपील की थी, लेकिन राहत नहीं मिल पाई थी.

First published: 28 September 2016, 4:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी