Home » इंडिया » Supreme Court: No firecracker sale in Delhi-NCR this Diwali
 

दिल्ली एनसीआर में इस बार पटाखों के बिना मनेगी दिवाली

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 October 2017, 13:24 IST

अगर आप दिल्ली या एनसीआर में रहते हैं तो इस बार दिवाली में आप पटाखें नहीं छुड़ा पाएंगे. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक इस साल दिल्ली और NCR में दिवाली पर पटाखे नहीं बिकेंगे. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि दिल्ली-एनसीआर में पटाखों की बिक्री 1 नवंबर, 2017 से दोबारा शुरू हो सकेगी. कोर्ट ने 12 सितंबर के अपने रोक के आदेश में संशोधन किया है.

 

सुप्रीम कोर्ट के आदेश की सीधा असर इस साल दिवाली पर होगा. देश भर में इस बार दिवाली 19 अक्टूबर को मनाई जाएगी. दरअसल सुप्रीम कोर्ट ये देखना चाहता है कि पटाखों के कारण प्रदूषण पर कितना असर पड़ता है. इसी वजह से कोर्ट ने 11 नवंबर 2016 का पटाखों की बिक्री पर रोक का आदेश बरकरार रखने का फैसला लिया.

सुप्रीम कोर्ट ने अपने इस आदेश में केंद्र सरकार को पूरे एनसीआर में पटाखों की बिक्री के लिए कोई नया लाइसेंस नहीं देने और पहले से जारी लाइसेंस को निलंबित करने के आदेश दिए थे.

गौरतलब है कि 6 से 14 महीने के तीन बच्चों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर साफ हवा में सांस लेने के अधिकार की मांग करते हुए पटाखों की ब्रिकी पर रोक लगाने का आदेश देने की मांग की थी. इस याचिका में मांग की गई थी कि दशहरा और दिवाली जैसे त्योहारों पर पटाखों की ब्रिकी पर रोक लगाई जाए.

ये अपने तरह का पहला मामला है जब ऐसा हुआ है कि बच्चे पटाखा बैन करने के लिए कोर्ट के दरवाजे पर जा पहुंचे. जिन बच्चों ने पटाखों की ब्रिकी पर रोक के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया उनका नाम अर्जुन गोपाल, आरव भंडारी और जोया राव है. इन तीन बच्चों की तरफ से उनके पिताओं ने दायर जनहित याचिका में कहा कि दिल्ली में वायु प्रदूषण के चलते हालात खराब हो रहे हैं.

First published: 9 October 2017, 13:24 IST
 
अगली कहानी