Home » इंडिया » Supreme Court's notice to Azam Khan for his controversial statement in Gangrape case
 

बुलंदशहर गैंगरेप: आजम को सुप्रीम कोर्ट से फटकार, विवादित बयान पर मांगा जवाब

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2017, 8:19 IST
(फाइल फोटो)

बुलंदशहर गैंगरेप केस में विवादित बयान देने वाले सपा के वरिष्ठ नेता और कैबिनेट मंत्री आजम खान की मुश्किलें बढ़ गई हैं. सामूहिक दुष्कर्म के मामले में आपत्तिजनक टिप्पणी करना आजम को महंगा पड़ सकता है.

सुप्रीम कोर्ट ने आजम खान को उनके बयान पर अपना पक्ष रखने के लिए नोटिस भेजा है. बुलंदशहर में एक महीने पहले हाईवे पर महिला और उसकी नाबालिग बेटी से गैंगरेप का मामला सामने आया था.

राजनीतिक वजह की जताई थी आशंका 

इस घटना के बाद उठे सवालों के बाद अखिलेश यादव सरकार के वरिष्ठ मंत्री आजम खान ने कहा था कि बुलंदशहर मामला राजनीतिक कारणों से सपा सरकार को बदनाम कराने के लिए भी हो सकता है. उनके इस बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया हुई थी.

सुप्रीम कोर्ट ने आजम खान को नोटिस का जवाब देने के लिए तीन हफ्ते की मोहलत दी है. गौरतलब है कि आजम के बयान पर एक शख्स ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर उन पर कड़ी कार्रवाई की मांग की थी.

याचिका में दुष्कर्म के इस मामले की ठीक से सुनवाई होने के लिए इसे यूपी से बाहर ट्रांसफर करने की मांग भी की गई है. सोमवार को इस याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश के नगर विकास मंत्री आज़म खान को कड़ी फटकार लगाई.

सुप्रीम कोर्ट की सख्त टिप्पणी

सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि जिम्मेदार पदों पर बैठे लोगों के ऐसे बयानों से प्रशासन में भरोसा कम होता है. कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को भी कड़ी फटकार लगाई. साथ ही सर्वोच्च अदालत ने दुष्कर्म मामले की जांच संबंधी प्रगति की समीक्षा की जरूरत भी बताई.

याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट से यह अपील की थी कि उत्तर प्रदेश में इस मामले की सही से सुनवाई नहीं हो सकती, इसलिए इस मामले को यूपी से बाहर ट्रांसफर कर दिया जाय. इस मामले पर अगली सुनवाई 27 सितंबर को होगी. सुनवाई के दौरान अदालत ने मामले की सीबीआई जांच पर फिलहाल रोक लगा दी है.

First published: 29 August 2016, 3:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी