Home » इंडिया » Supreme Court said not mandatory to play the national anthem at the cinema house
 

सुप्रीम कोर्ट: अब सिनेमा घर में राष्ट्रगान बजाना अनिवार्य नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 January 2018, 13:41 IST

सुप्रीम कोर्ट ने अपने पुराने आदेश में संसोधन करते हुए कहा है कि अब सिनेमा हॉल में फ़िल्म दिखाने से पहले राष्ट्रगान बजाना अनिवार्य नहीं होगा. पिछली सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि देशभक्ति कोर्ट के आदेश के जरिए नहीं थोपी जा सकती.

23 अक्टूबर 2017 को सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को कहा कि सिनेमाघरों और अन्य स्थानों पर राष्ट्रगान बजाना अनिवार्य हो या नहीं, ये वो तय करे. इसके बाद सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार ने हलफनामा दायर कर कहा है कि विभिन्न मंत्रालयों को मिलाकर पिछले साल 5 दिसंबर को एक कमिटी का गठन किया गया है, ताकि इस बारे में वह नई गाइडलाइंस तैयार कर सके.

 

यह कमेटी अगले 6 महीने में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी. केंद्र के हलफनामे में कहा गया है कि इसमें सूचना और प्रसारण, रक्षा, विदेश, संस्कृति, महिला और बाल विकास, अल्पसंख्यक कार्य, कानूनी मामलों के विभाग और संसदीय कार्य मंत्रालय समेत विभिन्न मंत्रालयों के प्रतिनिधि होंगे.

सरकार ने कहा है कि कमेटी को राष्ट्रगान से जुड़े अनेक विषयों पर व्यापक विचार-विमर्श करना होगा और कई मंत्रालयों के साथ गहन मंथन करना होगा. कमिटी के सुझाव के बाद ही यह तय किया जा सकेगा कि सरकार की ओर से इस संबंध में कोई नोटिफकेशन या सर्कुलर जारी किया जाए या नहीं.

केंद्र ने कहा है कि तब तक 30 नवंबर, 2016 के राष्ट्रीय गान के अनिवार्य करने के आदेश से पहले की स्थिति बहाल हो. मंगलवार को इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी.अपने सुझाव देगी. तब तक 30 नवंबर, 2016 के राष्ट्रीय गान के अनिवार्य करने के आदेश से पहले की स्थिति बहाल हो.

First published: 9 January 2018, 13:41 IST
 
अगली कहानी