Home » इंडिया » Supreme Court slams AAP Government over Munak canal row
 

सुप्रीमकोर्ट ने दिल्ली सरकार को लताड़ा, हर बार कोर्ट क्यों चले आते हैं?

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 February 2016, 13:20 IST

हरियाणा में चल रहे जाट आंदोलन की वजह से दिल्ली में हो रहे पानी संकट का मामला सुप्रीम कोर्ट में ले जाना दिल्ली  सरकार को भारी पड़ गया.

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार की मुनक नहर मामले पर सुनवाई के दौरान कड़ी आलोचना की. कोर्ट ने कहा कि जब ये मामला सरकारों के बीच बातचीत से हल हो सकता है तो इसे फिर हमारे सामने लाने की जरूरत ही क्या थी? आप हर मामले में हमारे पास क्यों चले आते हैं.

कोर्ट ने अपनी तल्ख टिप्पणी में कहा कि सरकार के मंत्री या तो दफ्तर में बैठे रहते हैं या सुप्रीम कोर्ट मे आ जाते हैं. ऐसे कब तक चलेगा. उन्हें मौके पर जाकर हालात का जायजा लेना चाहिए.

इस मौके पर सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार के मंत्री कपिल मिश्रा के कोर्ट में आने पर भी आपत्ति जाहिर की. 

कोर्ट ने इसके बाद सरकार की तरफ से दायर अर्जी को खारिज कर दिया. लेकिन दिल्ली सरकार की तरफ से पेश हुए वकील ने कोर्ट से कहा कि यह बेहद ही गंभीर मामला है. इससे पूरी दिल्ली की जनता का हित जुड़ा हुआ है और इस मामले में कोर्ट को दखल देना चाहिए.

तब जाकर सुप्रीम कोर्ट इस मामले पर सुनवाई के लिए तैयार हुई. कोर्ट ने इस मामले में हरियाणा सरकार से दो दिन के भीतर स्टेटस रिपोर्ट मांगी है और केंद्र को भी नोटिस भेजा है.

First published: 22 February 2016, 13:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी