Home » इंडिया » Supreme Court to hear plea against P Chidambaram on Ishrat Jahan
 

इशरत जहां मामले में सुप्रीम कोर्ट सुनवाई के लिए तैयार

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 March 2016, 16:27 IST

सुप्रीम कोर्ट 2004 में कथित फर्जी मुठभेड़ में मारी गई इशरत जहां के मामले में दायर जनहित याचिका (पीआईएल) की सुनवाई के लिए तैयार हो गया है. पीआईएल में इशरत जहां के मामले में गुजरात पुलिसकर्मियों के खिलाफ आपराधिक अभियोजन, निलंबन और अन्य कार्रवाइयों को खारिज करने का आग्रह किया गया है.

इसके अलावा पीआईएल में पूर्व गृहमंत्री पी. चिदंबरम पर शीर्ष अदालत और गुजरात हाईकोर्ट में झूठी गवाही देने और गुमराह करने का आरोप लगाया गया है. चिदंबरम के खिलाफ अवमानना की कार्रवाई करने की मांग की गई है.

पढ़ें:  'इशरत जहां' के बारे में क्या-क्या कहा डेविड हेडली ने

अमेरिकी जेल में बंद लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के सदस्य डेविड हेडली ने पिछले महीने गवाही के दौरान मुंबई की एक अदालत को बताया था कि इशरत लश्कर की सदस्य थी.

पीआईएल दाखिल करने वाले एमएल शर्मा ने जब इस मामले पर तत्काल सुनवाई का आग्रह किया तो चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर और जस्टिस यूयू ललित की पीठ ने कहा, इसे सूचीबद्ध होने दीजिए. तब हम इसे देखेंगे.

इशरत जहां: सियासत और न्यायपालिका के गले में अटका 'फर्जी' एनकाउंटर

एमएल शर्मा ने कहा कि हेडली का बयान महत्वपूर्ण है क्योंकि यह इस बात को निर्णायक रूप से स्थापित करता है कि इशरत लश्कर-ए-तैयबा की सदस्य थी. उन्होंने इशरत जहां की हत्या के आरोप में मुकदमा झेलने वाले गुजरात पुलिस के अधिकारियों के लिए 'उचित मुआवजे' की भी मांग की.

पढ़ें: क्या निकम ने चालाकी से उगलवाया इशरत जहां का नाम?

मुठभेड़ में कथित भूमिका को लेकर तत्कालीन डीआईजी डीजी वंजारा सहित गुजरात पुलिसकर्मी मुंबई की एक अदालत में अभियोजन का सामना कर रहे हैं.

First published: 1 March 2016, 16:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी