Home » इंडिया » Supreme court verdict on Road Accidents: non insured vehicles be sold and given compensation to the injured
 

सड़क हादसों पर SC का बड़ा फैसला, जिस वाहन से होगी दुर्घटना उसी को बेच कर दिया जाएगा मुआवजा

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 September 2018, 13:32 IST
(File Photo)

सुप्रीम कोर्ट ने सड़क दुर्घटना को लेकर बड़ा फैसला दिया है. इसी के साथ बिना इंश्योरेंस के वाहनों को लेकर भी सख्त कदम उठाया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि सड़क दुर्घटना में जिस वाहन से हादसा होता है अगर उसका इंश्योरेंस नहीं है तो उसे बेच कर पीड़ित को मुआवजा दिया जाएगा. सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि बिना इंश्योरेंस के ऐसे वाहन दुर्घटना के बाद जब्त कर लिए जाएंगे.

MACT कोर्ट द्वारा इन वाहनों को बेच दिया जाएगा. वाहन बेचने से प्राप्त राशि को घायल व्यक्ति को मुआवजे के तौर पर दिया जाएगा. सुप्रीम कोर्ट ने ये आदेश दिया है कि ये फैसला देश के सभी राज्यों में 12 हफ़्तों के अंदर ही लागू कर दिया जाए.

पंजाब के एक ऐसे ही मामले की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने ये निर्देश जारी किये हैं. इस मामले में याचिकाकर्ता ऊषा देवी ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि दिल्ली के MACT एक्ट के तहत ये सुविधा दी गई है. लेकिन देह के बाकि राज्यों में ऐस कोई नियम नहीं है.

गौरतलब है की सड़क दुर्घटनाओं के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने पहले आदेश दिया था कि नए वाहनों के रजिस्ट्रेशन के समय थर्ड पार्टी इंश्योरेंस को अनिवार्य किया जाएगा. सुप्रीम कोर्ट ने तीन सालों के लिए थर्ड पार्टी इंश्योरेंस को अनिर्वाय किया था.

सड़क हादसों में हुई मौत को लेकर कोर्ट ने इंश्योरेंस कंपनी को फटकार लगते हुए कहा सड़क दुर्घटना में लोग मर रहे है. इंश्योरेंस कंपनी द्वारा मुआवजा देने में लगने वाले समय को लेकर कोर्ट ने इंश्योरंस कंपनियों को फटकार लगाते हुए कहा, ''लोग मर रहे हैं और आप कह रहे हैं कि उन्हें मरने दिया जाए. आप उनको देखिए वे सड़क दुर्घटना में मर रहे है. भारत की जनता मर रही है. उनके लिए कुछ करिए. उनके पास पैसे नहीं होते और आप आठ महीने का समय मांग रहे हैं. किसी भी कीमत पर आपको आठ महीने का समय नहीं दिया जा सकता.''

First published: 13 September 2018, 13:32 IST
 
अगली कहानी