Home » इंडिया » Supreme court verdict on sabarimala temple and bhima koregaon case, third day of decisions
 

SC में आज बड़े फैसलों का तीसरा दिन, सबरीमाला मंदिर-भीमा कोरेगांव मामलों पर आएगा निर्णय

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 September 2018, 9:32 IST
(File photo)

लगातार तीसरे दिन सुप्रीम कोर्ट में आज देश के अहम मसलों पर फैसला आएगा. आज देश की सर्वोच्च अदालत विवादित भीमा-कोरेगांव हिंसा केस पर फैसला सुनाएगी. इसी के साथ आज केरल के सबरीमाला मंदिर से जुड़े दो अहम फैसले आएंगे. आज पहला मामला केरल के सबरीमाला मंदिर में प्रवेश का है जिस पर सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आएगा.

सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर आएगा फैसला

पत्थनमथिट्टा जिले के सबरीमाला मंदिर के प्रबंधन ने सुप्रीम कोर्ट को महिलाओं के प्रवेश निषेध को लेकर ये तर्क दिया था कि 10 से 50 वर्ष की आयु तक की महिलाएं मासिक धर्म के समय शुद्धता नहीं रखती इसलिए उन्हें मंदिर में प्रवबेष की इजाजत नहीं दी जा सकती है.

सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश की मांग काफी लम्बे समय से चल रही है. लेकिन मंदिर प्रबंधन ने इसका हमेशा ही विरोध किया है. तब महिलाओं के प्रवेश का ये मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है. चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अगुवाई वाली 5 सदस्यीय बेंच ने अगस्त में पूरी सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा लिया था.

भीमा-कोरेगांव हिंसा पर 5 कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी पर आएगा फैसला

भीमा-कोरेगांव हिंसा में 5 कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी को लेकर पर काफी विवाद हुआ था. सुप्रीम कोर्ट में आज इसी मामले में फैसला आएगा कि इन 5 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया जाए या नहीं. इस मामले में प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, जस्टिस एएम खानविलकर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की पीठ ने 20 सितंबर को दोनों पक्षों के वकीलों की दलील सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रखा था.

Video: स्कूल पहुंचने के लिए पतीले पर बैठ नदी पार करते हैं बच्चे, ऐसे कैसे बढ़ेगा इंडिया?

इस केस के चलते पांचों कार्यकर्ता वरवरा राव, अरुण फरेरा, वरनॉन गोंजाल्विस, सुधा भारद्वाज और गौतम नवलखा 29 अगस्त से अपने-अपने घरों में नजरबंद हैं. इस मामले में रोमिला थापर, समाजशास्त्र के प्रोफेसर सतीश देशपांडे, अर्थशास्त्री प्रभात पटनायक और देवकी जैन और मानवाधिकारों के लिए वकालत करने वाले माजा दारुवाला की ओर से याचिका दायर में इनकी रिहाई की मांग की गई है. इसके साथ ही इस मामले की स्वतंत्र जांच की मांग की गई है. आज लगातार तीसरे दिन सुप्रीम कोर्ट में अहम फैसलों का दिन है.

First published: 28 September 2018, 9:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी