Home » इंडिया » Suresh Chavhanke, Sudarshan News editor-in-chief, booked on charges of spreading communal hate in lucknow
 

सुदर्शन चैनल के संपादक सुरेश चव्हाणके गिरफ़्तार, धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 April 2017, 9:34 IST
Sudarshan TV editor Suresh Chavhanke

धार्मिक भावनाएं भड़काने और माहौल बिगाड़ने के आरोप में यूपी की संभल पुलिस ने सुदर्शन न्यूज़ चैनल के संपादक और सीएमडी सुरेश चव्हाण को लखनऊ एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया.

सुदर्शन चैनल के सीएमडी के खिलाफ संभल पुलिस ने 10 अप्रैल को कोतवाली में आईपीसी की धारा 153ए (1), 505 (1) बी/295 ए और केबिल टेलीविजन नेटवर्क (विनिमय) एक्ट 1955 की धारा 16 के तहत मामला दर्ज किया था. इंस्पेक्टर सरोजनी नगर सुधाकर पांडेय ने बताया कि संभल पुलिस की टीम ने उनसे सुरेश चव्हाणके की गिरफ्तारी के लिए मदद मांगी थी. उनके एयरपोर्ट पर मौजूद होने की सूचना थी.

गिरफ़्तार संपादक पर आरोप है कि सुदर्शन न्यूज चैनल के बिंदास बोल कार्यक्रम में दो संप्रदायों के बीच शत्रुता पैदा करने वाले कई आपत्तिजनक बयान और तथ्य दिखाए गए थे और लोगों की धार्मिक भावनाएं भड़काने का प्रयास किया गया.

ये कार्यक्रम छह, सात और आठ अप्रैल को चैनल में प्रसारित हुए. इसके बाद चैनल की तरफ से इनको सोशल मीडिया पर वायरल किया गया. इस बारे में संभल के कोतवाली प्रभारी बृजमोहन गिरी को शिकायत मिली. उन्होंने वीडियो की जांच के बाद 10 अप्रैल को चैनल के सीएमडी सुरेश चव्हाण और संभल के भीमनगर निवासी इतरत हुसैन बाबर के खिलाफ FIR दर्ज की थी. 

यूपी पुलिस ने लखनऊ एयरपोर्ट पर रोका

जब सुरेश चव्हाणके से पूछा गया कि योगी आदित्यनाथ की सरकार में अपनी गिरफ्तारी को वे कैसे देखते हैं, तो उन्होंने कहा कि योगी जी को अभी इसकी जानकारी नहीं होगी. सुरेश चव्हाण के ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया गया, "यूपी पुलिस ने मेरी सुरक्षा का हवाला देकर मुझे लखनऊ से दिल्ली जाने से एयरपोर्ट पर रोक लिया है. कल (गुरुवार को) मेरा संभल जाने का कार्यक्रम है." 

अगले ट्वीट में सुरेश चव्हाण ने लिखा, "मेरे विरोधियों ने संभल और संसद में झूठ बताया कि मैंने मस्जिद में जाने की घोषणा की है. कोई भी मेरे किसी भी वीडियो में यह दिखा दे." गौरतलब है कि सुदर्शन न्यूज़ चैनल के संपादक सुरेश चव्हाणके पहले से विवादों में रहे हैं. उनके खिलाफ चैनल की एक पूर्व सहकर्मी ने रेप का केस दर्ज कराया था.

First published: 13 April 2017, 8:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी