Home » इंडिया » Surgical Strike: Leopard urine worked in the mission says Lt General RR Nimbhorkar
 

सर्जिकल स्ट्राइक: पाक आतंकियों पर फतह हासिल करने में तेंंदुए के मूत्र ने की थी भारतीय सेना की मदद

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 September 2018, 17:06 IST

सर्जिकल स्ट्राइक के समय पाकिस्तानी आतंकियों पर फतह हासिल करने में तेंंदुआ के मूत्र ने भारतीय सेना की मदद की थी. इसका खुलासा भारतीय सेना के एक अधिकारी ने किया है. ऑपरेशन की अगुवाई करने वाले पूर्व नगरोटा कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल राजेंद्र निम्भोड़कर ने बताया कि गत 12 सितंबर को इस ऑपरेशन को सफल बनाने में तेंदुए के मूत्र ने हमारी मदद की थी.

लेफ्टिनेंट जनरल ने बताया कि जंगली कुत्तों से पीछा छुड़ाने के लिए सेना के जवान अपने साथ तेंदुए का मूत्र लेकर गए थे. उन्होंने बताया कि नौशेरा सेक्टर में हमने देखा कि तेंदुए अक्सर इलाके में कुत्तों पर हमला करते थे और तेंदुए के हमले से खुद को बचाने के लिए कुत्ते रात के समय सेक्टर में रहना पसंद करते थे.

 

अधिकारी ने बताया कि सर्जिकल स्ट्राइक के लिए रणनीति बनाते समय हम लोगों के दिमाग में कुत्तों के भौंकने और रास्ते में गांव पार करते समय सेना के जवानों पर उनके हमले की बात थी. उन्होंने बताया कि कुत्तों से छुटकारा पाने के लिए सेना के जवान तेंदुए का पेशाब और मल अपने साथ ले गए. सेना के जवानों ने तेंदुए के मल और मूत्र को गांव के बाहर फैलाया और छिड़का. उन्होंने बताया कि हमारी इस सोच ने अच्छी तरह से काम किया.

पढ़ें- सर्जिकल स्ट्राइक सालगिरह: कोणार्क मेमोरियल पहुंचे PM मोदी ने सैनिकों के सम्मान में लिखी ये बात

बता दें कि दो साल पहले 28 और 29 सितंबर 2016 की रात को भारतीय सेना ने एलओसी पार कर 7 आतंकी शिविरों को नष्ट कर दिया था. सेना ने भारत में घुसपैठ करने वाले आतंकियों के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक की थी और पाकिस्तानी आतंकियों को मौत के घाट उतारा था. भारतीय सेना की सर्जिकल स्ट्राइक से पूरी दुनिया हैरान रह गई थी.

First published: 28 September 2018, 17:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी