Home » इंडिया » Sushma swaraj death news in last time she fainted aiims doctors try hard but not succeed
 

सुषमा स्वराज के आखिरी पल, 70-80 मिनट की कोशिशों के बाद भी नहीं बचा सके एम्स के डॉक्टर्स

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 August 2019, 13:10 IST

भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का मंगलवार की रात निधन हो गया. मंगलवार की रात अचानक तबियत बिगड़ने की वजह से सुषमा स्वराज को एम्स में भर्ती कराया गया था. बताया जा रहा है कि जंतर-मंतर रोड पर स्थित आवास पर अचानक दिल का दौरा पड़ने की वजह से वह बेहोश हो गई, जिसके बाद रात करीब 9.35 पर उन्हें अस्पताल ले जाया गया.

एम्स की ओर से एक बया जारी किया गया. इस बयान के अनुसार, एम्स के डॉक्टर्स की एक टीम ने लगातर 70-80 मिनट तक उन्हें सीपीआर (कार्डियोपल्मोरी रससटेशन) देती रही. सीपीआर एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसमें दिल का दौरा पड़ने के दौरान मरीज के सीने को लगातार दबाया जाता है. इसके साथ ही उसे कृत्रिम सांस दी जाती है. सीपीआर करने का मकसद शरीर में ऑक्सीजन और खून प्रवाह बनाए रखना होता है. हालांकि, लगातार डॉक्टरों द्वारा की गई कोशिश रंग नहीं ला पाई और उन्होंने रात करीब 10 बजकर 50 मिनट पर दम तोड़ दिया. सुषमा स्वराज की निधन की खबर सुनते ही कई राजनेता उनसे मिलने अस्पताल पहुंचे.

मालूम हो कि साल 2016 में सुषमा स्वराज का एम्स में किडनी की सर्जरी हुई थी. करीब 6 घंटों तक ये सर्जरी चली थी. सुषमा स्वराज अपने पीछे अपने पति स्वराज कौशल और बेटी बांसुरी कौशल को छोड़ गई हैं. अपने निधन से कुछ घंटे पहले सुषमा ने अनुच्छेद 370 हटाने को लेकर ट्वीट किया था. उन्होंने ट्वीट कर लिखा, "अपने जीवनकाल में मैं इस दिन को देखने का इंतजार कर रही थी."

First published: 7 August 2019, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी