Home » इंडिया » Sushma Swaraj: I am happy to inform you that Judith D'souza has been rescued
 

काबुल से डेढ़ महीने पहले अगवा भारतीय जूडिथ डिसूजा आजाद

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:48 IST
(पीटीआई)

अफगानिस्तान के काबुल से करीब डेढ़ महीने पहले अगवा कोलकाता की जूडिथ डिसूजा को सकुशल आजाद करा लिया गया है.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर यह जानकारी दी. उन्होंने कहा, "जूडिथ अब हम सबके साथ है, सुरक्षित है. जल्द ही वह काबुल से अपने घर लौटेगी. वंदे मातरम!."

जानकारी के मुताबिक जूडिथ शनिवार शाम तक दिल्ली पहुंच जाएंगी. इसके बाद वह कोलकाता जाएंगी. सुषमा स्वराज ने अपने ट्वीट में लिखा, "मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि जूडिथ डिसूजा को रिहा करा लिया गया है."

पढ़ें: अफगानिस्तान: काबुल में भारतीय महिला का अपहरण

जूडिथ के भाई जेरोम ने बताया था कि उन्होंने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निवास पर पर जाकर मुलाकात की. स्वराज ने उन्हें भरोसा दिलाया था कि जूडिथ को वापस लाने की हरसंभव कोशिश की जा रही है.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट करते हुए बताया कि जूडिथ डिसूजा को नौ जून को काबुल से अगवा किया गया था.

इसके साथ ही विदेश मंत्री ने अफगानिस्तान प्रशासन को जूडिथ डिसूजा को आजाद कराने के लिए चलाई मुहिम में मदद करने के लिए शुक्रिया भी कहा.

सुषमा स्वराज ने जूडिथ की सुरक्षित रिहाई के लिए अफगानिस्तान में भारत के एंबेसडर मनप्रीत वोहरा को बधाई दी. सुषमा ने ट्विटर पर लिखा, "एंबेसडर मनप्रीत वोहरा- आपने एक अभूतपूर्व काम कर दिखाया है."

आगा खां फाउंडेशन में करती थीं काम

इससे पहले जूडिथ डिसूजा के परिजनों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर उसकी सुरक्षित रिहाई के लिए अपील की थी. संदिग्ध आतंकवादियों ने 40 साल की जूडिथ को नौ जून को काबुल में उनके दफ्तर के बाहर से अगवा कर लिया था.

जूडिथ वहां आगा खां फाउंडेशन के लिए वरिष्ठ तकनीकी सलाहकार के रूप में काम कर रही थीं. जब उन्हें अगवा किया गया था, उसी हफ्ते वह अपने घर कोलकाता लौटने वाली थीं.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट किया, "मैंने जूडिथ से बात की है. वह आज शाम को दिल्ली पहुंच रही हैं. एंबेसडर मनप्रीत वोहरा उनके साथ हैं."

First published: 23 July 2016, 11:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी