Home » इंडिया » Sushma Swaraj teaches Rahul Gandhi to maintain decorum of speech on Lal Krishna Advani
 

राहुल ने आडवाणी को लेकर दिया विवादित बयान तो सुषमा स्वराज ने लगाई फटकार- 'सोच समझकर बोलना'

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 April 2019, 14:13 IST

सुषमा स्वराज ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को भाषा की मर्यादा बनाए रखने की नसीहत दी है. सुषमा स्वराज ने यह नसीहत कांग्रेस अध्यक्ष की बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी पर की गई टिप्पणी के लिए दी है. सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर कहा, "राहुल जी - अडवाणी जी हमारे पिता तुल्य हैं. आपके बयान ने हमें बहुत आहत किया है. कृपया भाषा की मर्यादा रखने की कोशिश करें."

दरअसल, लाल कृष्ण आडवाणी को लेकर राहुल गांधी ने विवादित बयान दिया था. उन्होंने शुक्रवार को महाराष्ट्र के चंद्रपुर में रैली में कहा था कि मोदीजी अपने गुरु के आगे हाथ नहीं जोड़ते. राहुल ने कहा था कि मोदीजी ने अपने गुरु आडवाणी को जूता मारकर स्टेज से उतार दिया.

राहुल ने कहा था, "हिंदू धर्म में सबसे जरूरी होता है गुरु. मोदीजी के गुरु कौन हैं...आडवाणीजी. शिष्य गुरु के सामने हाथ भी नहीं जोड़ता. स्टेज से उठाकर फेंक दिया नीचे गुरु को. जूता मारके आडवाणीजी को उतारा दिया स्टेज से और हिंदू धर्म की बात करते हैं."

राहुल गांधी ने आगे कहा, "हिंदू धर्म में कहां लिखा है कि लोगों को मारना चाहिए. 2019 का चुनाव विचारधारा की लड़ाई है. कांग्रेस की विचारधारा भाईचारा, प्रेम और मोदी के नफरत, क्रोध, विभाजनकारी विचारधारा पर जीत हासिल करेगी."

राहुल के इसी बयान पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पलटवार करते हुए राहुल गांधी पर करारा प्रहार किया. गौरतलब है कि 4 अप्रैल को लाल कृष्ण आडवाणी ने एक ब्लॉग था. इस ब्लॉग में उन्होंने लिखा था कि बीजेपी ने कभी अपने राजनैतिक विरोधियों को देशद्रोही नहीं माना. आडवाणी के ब्लॉग के बाद ही विपक्षी पार्टियां बीजेपी और पीएम मोदी पर हमलावर हैं. 

अखिलेश यादव का घोषणापत्र में वादा, सरकार बनी तो अमीर 'सवर्णों' पर लगाएंगे टैक्स

राहुल गांधी की चाची बोलीं- कुछ भी कर लें कभी नहीं बन पाएंगे देश के प्रधानमंत्री

First published: 6 April 2019, 14:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी