Home » इंडिया » swami given contrivercial remark after pm comment
 

पीएम की नसीहत नाकाम, जारी है स्वामी-जेटली संग्राम

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST
(एजेंसी)

ऐसा लगता है कि पीएम नरेंद्र मोदी की अपरोक्ष तौर पर नसीहत बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी पर असर नहीं डाल पाई है. यही वजह है कि वित्त मंत्री अरुण जेटली से उनकी जंग अभी खत्म होती नहीं दिख रही. 

पीएम की खरी-खरी के बावजूद आज सुब्रमण्यम स्वामी ने एक के बाद एक ट्वीट करते हुए जेटली के साथ जंग जारी रखने के संकेत दिए. जबकि पीएम ने कहा था कि बार-बार बेतुके बयान देना पब्लिसिटी स्टंट के अलावा कुछ नहीं है. 

स्वामी ने अपरोक्ष रूप से जेटली पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया. "दोस्तों ने मुझे बताया कि अर्णब गोस्वामी आजकल अपने शो के दौरान मुर्गा-मुर्गा चिल्लाते रहते हैं. लगता है कि उन्हें किसी गैर निर्वाचित पागल कुत्ते ने काटा है." 

माना जा रहा है कि ये ट्वीट जेटली पर उनका ताजा हमला है. हालांकि स्वामी ने मर्यादा लांघते हुए अपने ऊपर गौर नहीं किया. हकीकत यह है कि वह खुद राज्यसभा से मनोनीत सदस्य के रूप में निर्वाचित हुए हैं.

पीएम मोदी ने हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि प्रचार की भूख अच्छी नहीं है. अब सुब्रमण्यम स्वामी ने एक और ट्वीट किया है.  स्वामी ने कहा कि वह कभी भी प्रचार के पीछे नहीं भागते है, बल्कि प्रचार उनके पीछे-पीछे भागता है. स्वमी ने इस संदर्भ में अपने दरवाजे के बाहर खड़े मीडिया के ओबी वैन का भी हवाला दिया.

दरअसल बीते दिनों अंग्रेजी समाचार चैनल 'टाइम्स नाउ' को दिए इंटरव्यू में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वित्त मंत्री अरुण जेटली और सरकार से जुड़े नौकरशाहों पर सुब्रमण्यम स्वामी के द्वारा की गई टिप्पणियों को प्रचार पाने का हथकंडा बताया था.

स्वामी ने कहा कि वह मोदी के पक्के समर्थक हैं और उनके हौसले की तारीफ करते हैं, लेकिन साथ ही उन्होंने पीएम मोदी को उकसाने के लिए छापी गई कथित झूठी खबरों पर मीडिया को भी निशाने पर लिया.

स्वामी ने इस मामले में ट्वीट करते हुए कहा, "नयी समस्या : जब प्रचार लगातार एक राजनीतिज्ञ के पीछे भागता है. जब 30 ओबी आपके घर के बाहर खड़े हैं. चैनलों और समाचार पत्रों की ओर से 200 मिस कॉल्स आते हैं, तो यह प्रचार ही तो है."  

इसके अलावा उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा है, "प्रेस्टीट्यूट्स हर रोज जानबूझकर झूठी कहानियां बनाते हैं और यह उम्मीद करते हैं कि मैं उनके उकसावे में आकर जवाब दूंगा. हां, उन्हें ऐसी उम्मीद है."

स्वामी ने कहा कि मैंने पहले भी कहा था और आज फिर कहता हूं कि चाहे कितनी भी आफतें टूटें मैं पक्के तौर पर मोदी के साथ खड़ा हूं. मैं उनके हौसले की प्रशंसा करता हूं. कोई भी विदेशी ताकत मोदी को झुका नहीं सकती.

गौरतलब है कि बीजेपी के राज्यसभा से सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने बीते दिनों आरबीआई के गवर्नर रघुराम राजन पर लगाकर शब्दों के बाण चलाए. इसी झोंक में उन्होंने वित्त मंत्री अरुण जेटली को भी निशाने पर लिया था.

स्वामी के उन आपत्तिजनक आरोपों पर जब जेटली ने विरोध दर्ज कराया तो स्वामी का यह दांव उन्हीं पर भारी पड़ गया.  इस मामले में बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व ने भी नाखुशी जताई थी और पीएम मोदी ने अप्रत्यक्ष तौर पर उनके बयानों को खारिज कर दिया.

First published: 29 June 2016, 2:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी