Home » इंडिया » story swami hansdevacharya dies in road accident in up
 

लखनऊ के ट्रामा सेंटर में स्वामी हंसदेवाचार्य का निधन, संतो में गहरा शोक

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 February 2019, 7:26 IST

जगतगुरू स्वामी हंसदेवाचार्य का लखनऊ में शुक्रवार को निधन हो गया है. बताया जा रहा है कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर शुक्रवार की अलसुबह एक अज्ञात वाहन ने उनकी कार में टक्कर मार दी. इस हादसे में 4 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए, जिन्हें इलाज के लिए सीएचसी पर भेजा, जहां घायलों की हालत गंभीर होने की वजह से उन्हें लखनऊ ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया. जहां स्वामी हंस देवाचार्य की इलाज दौरान मौत हो गई.

उनकी मौत की खबर सुनकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने गहरा शोक जताते हुए ट्विट किया, "जगद्गुरु रामानन्दाचार्य गुरु स्वामी हंसदेवाचार्य जी महाराज की आज सड़क दुर्घटना में हुई मृत्यु पर गहरा दुःख पहुंचा. स्वामी जी विभिन्न आध्यात्मिक एवं धार्मिक दायित्वों का कुशलतापूर्वक निर्वहन करने वाले अत्यंत लोकप्रिय संत थे."


भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने स्वामी हंसदेवाचार्य के निधन पर गहरा शोक जताते हुए कहा, "स्वामी हंसदेवाचार्य जी महाराज का निधन न सिर्फ़ संत समाज बल्कि पूरे देश के लिए एक अपूर्णिय क्षति है . दुःख की इस घड़ी में स्वामी हंसदेवाचार्य जी महाराज के सभी अनुयायियों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूँ और ईश्वर से उनकी दिवंगत आत्मा की शांति की प्रार्थना करता हूँ . ॐ शांति"

जानकारी अनुसार, स्वामी हंस देवाचार्य अपनी कार से इलाहाबाद से दिल्ली लौट रहे थे. इसी दौरान क्षेत्र के आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर गांव देवखरी के पास उनकी कार किसी अज्ञात वाहन से टकरा गई. हादसे में स्वामी हंसदेवाचार्य समेत चालक अमित और गुरमान सिंह तथा स्वामी रामानंदचार्य और एक घायल हो गया. घायलों में स्वामी हंसदेवाचार्य की हालत नाजुक होने पर उन्हें लखनऊ के ट्रामा सेंटर रेफर किया गया. जहां स्वामी हंस देवाचार्य की मौत हो गई. वहीं, मामूली रूप से घायल लोगों की डॉक्टरों ने छुट्टी कर दी.

बता दें कि हरिद्वार के रहने वाले स्वामी हंसदेवाचार्य बैरागियों के मुखिया थे और साथ ही राम मंदिर निर्माण आंदोलन में अहम भूमिका निभा रहे थे. स्वामी हंसदेवाचार्य के निधन पर अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष समेत कई साधु संतों ने शोक जताया है. 

बता दें कि हरिद्वार के रहने वाले स्वामी हंसदेवाचार्य बैरागियों के मुखिया थे और साथ ही राम मंदिर निर्माण आंदोलन में अहम भूमिका निभा रहे थे. स्वामी हंसदेवाचार्य के निधन पर अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष समेत कई साधु संतों ने शोक जताया है. 

 

First published: 23 February 2019, 7:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी