Home » इंडिया » Kirti Azad got Swamy's help: catch hindi
 

आजाद को मिली स्वामी की मदद

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 December 2015, 19:59 IST

डीडीसीए विवाद में वित्तमंत्री अरुण जेटली पर आरोप लगाने वाले भारतीय जनता पार्टी के ही सांसद कीर्ति आजाद को बुधवार को पार्टी से निलंबित कर दिया गया. इसके बाद आजाद के बचाव में भाजपा के नेता सुब्रमण्यम स्वामी आगे आए हैं. 

स्वामी ने कहा कि पार्टी को कीर्ति आजाद जैसा ईमानदार नेता नहीं खोना चाहिए. वो कीर्ति की हर संभव मदद करेंगे.

कीर्ति के मुताबिक उन्हें पार्टी की तरफ से नोटिस मिला है और वो इसका जवाब देंगे. सुब्रमण्यम स्वामी जवाब देने में उनकी सहायता करेंगे. कीर्ति ने कहा, "मैं शाम तक पार्टी को जवाब दूंगा." 

वहीं, स्वामी ने कहा, "मैं इस बात की पुष्टि करता हूं कि ड्राफ्ट नोटिस तैयार करने में कीर्ति आजाद की मदद करूंगा. मैं उन्हें तब से जानता हूं, जब वो नौजवान थे. मैं उनके पिता का अच्छा दोस्त रहा. मुझे उनकी मदद करने का पूरा अधिकार है. मुझे नहीं लगता कि पार्टी को ऐसे ईमानदार नेता को खोना चाहिए."

एक न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान कीर्ति ने कहा कि अभी उन्होंने दूसरी पार्टी में जाने का कोई फैसला नहीं लिया है. लेकिन पार्टी को दो टूक चेतावनी देते हुए कहा कि देखिए आगे-आगे होता है क्या. वो डीडीसीए में अनियमितताओं के खिलाफ दिल्ली उच्च न्यायालय में जनहित याचिका दायर करेंगे. 

कांग्रेसी हुए सक्रिय

भाजपा के अंदरखाने की इस उठापटक ने कांग्रेस को बोलने का मौका दे दिया है. कांग्रेसी नेता दिग्विजय सिंह ने भी इस संबंध में ट्वीट किया, 

"क्या बीजेपी में भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने वालों का यही हश्र होने वाला है? पहले राम जेठमलानी और अब कीर्ति. क्या अगला नंबर शत्रुघ्न सिन्हा का होगा?"

उन्होंने आगे कहा, "उल्टा चोर कोतवाल को डांटे. आज ये कहावत सच हो गई. इस्तीफा होना था जेटली का और निष्कासन हो गया कीर्ति का."

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस संबंध में प्रधानमंत्री से जवाब मांगते हुए कहा कि मोदी जी ने कहा था, 'न खाऊंगा न खाने दूंगा.' अब उनके सांसद ने कहा कि किसी ने खाया है तो उसे सस्पेंड करो. मोदी जी जवाब दें.

First published: 24 December 2015, 19:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी