Home » इंडिया » Swati maliwal says she will not stop her hunger strike untill the law on rape is made by central government
 

स्वाति मालीवाल: केजरीवाल का सम्मान लेकिन रेप पर नया कानून बनने पर ही खत्म करूंगी अनशन

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 April 2018, 9:35 IST

बीते एक सप्ताह से भूख हड़ताल कर रही दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने कहा कि वह नए कानून के लागू होने तक अपना अनशन खत्म नहीं करेंगी. केंद्र सरकार द्वारा 12 साल से कम उम्र के बच्चों से दुष्कर्म पर मौत की सजा के प्रस्ताव की मांग को लेकर मालीवाल के अनशन का शुक्रवार को आठवां दिन रहा.

दुष्कर्म की घटनाओं के विरोध में मालीवाल ने बीते सप्ताह राजघाट पर अपना अनशन शुरू किया और दोषियों के खिलाफ सख्त कानून की मांग की. उन्होंने कहा, "हर रोज सरकार द्वारा अदालतों में हलफनामे जमा किए जाते हैं. जब तक कानून लागू नहीं होता, मैं नहीं रूकूंगी. नाबालिगों के साथ दुष्कर्म के दोषियों को छह महीने के भीतर मौत की सजा का कानून होना चाहिए."

ये भी पढ़ें- स्वाति मालीवाल को केजरीवाल ने दी बधाई, कहा- अब ख़त्म करो भूख हड़ताल

अरविन्द केजरीवाल ने की थी अनशन खत्म करने की मांग
इससे पहले दिन में केंद्र सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय से कहा कि वह 12 साल से कम के बच्चों से दुष्कर्म करने वालों को मौत की सजा का प्रस्ताव कर रहे हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) की प्रमुख स्वाति मालीवाल को बधाई देते हुए भूख हड़ताल ख़त्म करने के लिए कहा है.

केजरीवाल ने यह बात केंद्र सरकार के उस आश्वासन के बाद कही जिसमे सुप्रीम कोर्ट में सरकार ने कहा कि उसने पीओसीएसओ (POCSO) अधिनियम में संशोधन करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है ताकि बच्चों के रेप के आरोपी को मृत्युदंड दिया जा सके.

 

क्या है मामला
स्वाति मालीवाल पिछले दस दिनों से कठुआ और उन्नाव बलात्कार मामलों के अपराधियों को मौत की सजा के लिए दिल्ली के आजाद मैदान में भूख हड़ताल पर हैं. स्वाति मालीवाल का कहना है कि अगर पीएम मोदी के रात में नोटबंदी का फैसला ले सकते हैं तो फिर वह महिला सुरक्षा पर कोई बड़ा फैसला क्यों नहीं ले सकते.
केंद्र सरकार द्वारा 12 साल से कम उम्र के बच्चों से दुष्कर्म पर मौत की सजा के प्रस्ताव के बाद केजरीवाल ने भी स्वाति से अनशन खत्म करने की मांग की.

केजरीवाल में लिखा "बधाई हो स्वाति जय हिन्द. अब आपको भूख हड़ताल समाप्त करना चाहिए. अब हम सभी को इन कानूनों के प्रभावी कार्यान्वयन के लिए काम करना चाहिए और अन्य मांगों को लेकर काम करना चाहिए." अपने ट्वीट में दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि अब उन्हें कानून के प्रभावी बनाने के लिए काम करना चाहिए.

डॉक्टरों द्वारा चेतावनियों के बावजूद मालीवाल ने अपनी हड़ताल समाप्त करने से इनकार कर दिया. "पहले पुलिस ने शुरू में मुझे जगह खाली करने के लिए कहा, अब डीसीपी पूरी पुलिस बल के साथ डॉक्टरों की झूठी रिपोर्ट से मेरा जीवन खतरे में है.

First published: 21 April 2018, 9:35 IST
 
अगली कहानी