Home » इंडिया » Tamil Nadu Government: Remit Sentence Of Rajiv Gandhi Case Convicts
 

तमिलनाडु सरकार राजीव गांधी के हत्यारों को रिहा करने के लिए तैयार

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 March 2016, 14:43 IST

तमिलनाडु सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के सात दोषियों को रिहा करने का फैसला किया है. उम्र कैद की सजा काट रहे सातों दोषी बीस साल से अधिक समय जेल में बिता चुके हैं.

समाचार एजेंसी आईएनस के मुताबिक तमिलनाडु सरकार के मुख्य सचिव के ज्ञानदेसीकन ने केंद्रीय गृह सचिव राजीव महर्षि को पत्र लिखकर इसपर राय मांगी है. राजीव गांधी की हत्या की जांच केंद्रीय एजेंसी सीबीआई ने की थी इसलिए राज्य के फैसले पर केंद्र की राय लेना जरूरी है.

राजीव गांधी हत्या के दोषी वी श्रीहरन उर्फ मुरूगन, टी सतेंद्रराजा उर्फ संतन, एजी पेरिवलन उर्फ अरीवु, जयकुमार, राबर्ट पयास, रविचंद्रन और नलिनी ने तमिलनाडु सरकार से सजा माफी की अपील की थी. जिसके बाद राज्य सरकार ने ये फैसला लिया.

इस पत्र में कहा गया है, "तमिलनाडु सरकार ने सातों दोषियों की याचिका पर विचार करके उनकी आजीवन कारावास की सजा को कम करके उन्हें रिहा करने के फैसला किया है...क्योंकि सातों दोषी पहले ही 24 साल की सजा काट चुके हैं. "

इस पत्र के अनुसार नलिनी ने मद्रास उच्च न्यायालय में एक रिट याचिका दायर करके भी खुद को रिहा करने का अनुरोध किया है.

ज्ञानदेसीकन ने चिट्ठी में कहा है कि वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए यह जरूरी हो गया है कि सीआरपीसी की धारा 435 के तहत तमिलनाडु सरकार ने जो फैसले लिया है. उससे आपको अवगत कराया जाए.

सात दोषियों में वी श्रीहरन, टी सतेंद्रराजा, जयकुमार और राबर्ट पयास श्रीलंकाई नागरिक हैं. 

First published: 3 March 2016, 14:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी