Home » इंडिया » tamilnadu: BJP national secretary H Raja called DMK leader Kanimozhi an illegitimate child of M Karunanidhi
 

राज्यपाल-पत्रकार विवाद: भाजपा नेता ने कनिमोझी को बताया करुणानिधि की अवैध संतान

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 April 2018, 17:49 IST
(ANI twitter)

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय सचिव एच राजा ने एक विवादित बयान दिया है. एच राजा ने तमिलनाडु के राज्यपाल द्वारा महिला पत्रकार के गाल सहलाने के विवाद को लेकर एक ट्वीट किया है. इसमें एच राजा ने डीएमके की सांसद कनिमोझी को डीएमके प्रमुख एम. करुणानिधि की अवैध संतान करार दिया है. जिसको लेकर विवाद शुरू हो गया है. वहीं कनिमोझी ने एच राजा को उनके इस बयान को लेकर एक गिरा हुआ इंसान बताया है.

आपको बता दें कि तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने डिग्री के लिए सेक्स' मामले में आरोपी महिला के बयान पर सफाई देने के लिए प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई थी. इस दौरान एक महिला पत्रकार ने राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित सेस सवाल पूछा था. इसके जवाब में राज्यपाल पुरोहित ने महिला पत्रकार के गाल सहला दिए थे, लेकिन बाद महिला पत्रकार के विरोध दर्ज कराने के बाद उन्होंने इसके लिए माफी मांग ली है. इस विवाद में कनिमोझी ने महिला पत्रकार का समर्थन किया था.

मीडिया खबरों के अनुसार, इसी विवाद को लेकर एच राजा ने एक ट्वीट किया है. इसमें उन्होंने कहा है कि तमिलनाडु के पत्रकार सिर्फ राज्यपाल पर ही सवाल क्यों उठाते हैं. लेकिन वे उस व्यक्ति को लेकर सवाल नहीं पूछते जिसकी एक अवैध बेटी है. उसको हाल ही में राज्यसभा का सदस्य बनाया गया है.

हालांकि उन्होंने अपने ट्वीट में किसी भी व्यक्ति का नाम नहीं लिखा है, लेकिन माना जा रहा है कि उनका इशारा डीएमके प्रमुख करुणानिधि और कनिमोझी की तरफ ही था.

वहीं कनिमोझी ने एच राजा के इस बयान को लेकर बीजेपी को घेरा है. उन्होंने इंडिया टुडे से बात करते हुए कहा है कि मैं ऐसे किसी भी व्यक्ति की बातों का जवाब नहीं देना चाहती हूं और ना ही मैं उनके स्तर तक गिरना चाहती हूं. लेकिन बीजेपी को इस मामले में सफाई देनी चाहिए.

उन्होंने आगे कहा कि इससे साफ पता चलता है कि कामकाजी और सार्वजनिक क्षेत्र में महिलाओं को कितना शोषण झेलना पड़ता है. मैं इसका उदाहरण हूं. मैंने महिला पत्रकार का समर्थन किया, तो मुझको भी इसका सामना करना पड़ गया. इससे पता चलता है कि अगर आप महिला के साथ हो रहे शोषण के खिलाफ आवाज उठाते हो तो आपके साथ क्या हो सकता है.

First published: 18 April 2018, 17:46 IST
 
अगली कहानी