Home » इंडिया » Tamilnadu: Blind couple reached bank with demonetized note, DM give new notes
 

बंद हो चुके नोटों के साथ बैंक पहुंचा नेत्रहीन दंपति, तो DM साहब ने किया ये, लोग जमकर कर रहे तारीफ

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 July 2020, 10:48 IST

तमिलनाडु से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसके बाद वहां के डीएम साहब की लोग जमकर तारीफ कर रहे हैं. दरअसल, जिला अधिकारी ने एक नेत्रहीन दंपति की मदद करते हुए अपने तरफ से 25 हजार रुपये दिए. क्योंकि नेत्रहीन दंपति को अभी तक यह पता चल पाया था कि उनके द्वारा बचाई गई पिछले 10 साल की कमाई में एक हजार और पांच सौ के नोट चार साल पहले ही बंद किए जा चुके हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सोमू (58) और उनकी पत्नी पलानीअम्मल अगरबत्ती बेचकर अपनी आजीविका कमाते हैं. दोनों ने पिछले दस साल से भी अधिक समय में अपनी जितनी भी बचत की थी, उसे लेकर वह बैंक पहुंचे थे. लेकिन बैंक में उन्हें बताया गया कि ये नोट चार साल पहले ही बंद हो चुके हैं. इसके बाद नेत्रहीन दंपति परेशान हो गई.

इसके बाद दंपति ने सरकार से मदद की अपील की. इलाके के जिलाधिकारी सी कतिरावन के पास यह रिपोर्ट पहुंची तो उन्होंने दंपति की बचाई हुई धनराशि 24000 रुपये से एक हजार रुपये अधिक देकर उनकी सहायता की. यानि जिलाधिकारी ने दंपति को 25 हजार रुपये की मदद अपने पैसे से की.

बीजेपी ने तीन बार किया था सचिन पायलट से संपर्क, दिया था उपराज्यपाल का ऑफर- रिपोर्ट

जिलाधिकारी ने एक अच्छे नागरिक की भूमिका का निर्वाह करते हुए अपनी स्वयं की गाड़ी भेजकर दंपति को अपने दफ्तर भी बुलाया और उन्हें चेक सौंपा. इसके बाद डीएम साहब ने नेत्रहीन दंपति के बचाए हुए 24,000 रुपये मूल्य के पुराने नोटों को जिले के प्रमुख बैंक में जमा कराने का निर्देश दिया.

सोमू और उनकी पत्नी ने सहायता के लिए जिला अधिकारी को कोटि-कोटि धन्यवाद दिया. सोमू का कहना है कि जब वह अपनी बचत राशि बैंक में जमा कराने पहुंचे तब पहली बार उन्हें पता चला कि एक हजार और पांच सौ के नोट नवंबर 2016 में बं द कर दिए गए हैं. 

Rajasthan: CM अशोक गहलोत ने किया शक्ति प्रदर्शन, विधायकों को जुटाकर किया सरकार बचाने का दावा

जब एक हवलदार की मदद से अशोक गहलोत ने कांग्रेस के मुख्यमंत्री का किया था काम तमाम

First published: 14 July 2020, 10:33 IST
 
अगली कहानी