Home » इंडिया » teachers in higher educational institutions in India has come down by about 2.34-lakh
 

बीते तीन साल में देश उच्च शिक्षण संस्थानों में कम हो गए 2.34 लाख शिक्षक

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 July 2018, 10:57 IST

2017-18 में ऑल इंडिया सर्वे ऑन हायर एजुकेशन रिपोर्ट के अनुसार पिछले तीन वर्षों में भारत में उच्च शिक्षा संस्थानों में शिक्षकों की कुल संख्या लगभग 2.34 लाख कम हो गई है. ऐसे समय में जब विश्वविद्यालयों में निरंतर रिक्तियों पर व्यापक चिंता हो रही है, ऐसे में यह रिपोर्ट भारतीय विश्वविद्यालयों में शिक्षकों की कमी पर सरकार की आंखें खोल सकती है.

भारत में उच्च शिक्षा संस्थानों में शिक्षकों की कुल संख्या - प्रोफेसर से अस्थायी शिक्षक के सभी पदों सहित- 2017-18 में 12.84 लाख थी. 2016-17 के आंकड़े के अनुसार 13.65 लाख और 2015-16 में 15.18 लाख थी, जो तीन वर्षों के भीतर 2.34 लाख की गिरावट का संकेत देते थे. 2011-12 और 2015-16 के बीच यह संख्या 12.47 लाख से बढ़कर 15.18 लाख हो गई.

कारण यह हो सकता है कि सेवानिवृत्त होने वाले प्रोफेसरों को प्रतिस्थापित नहीं किया जा रहा है, और सभी स्तरों पर नई रिक्तियों नहीं भरा जा रहा है. मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमओएचआरडी) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने अख़बार द हिंदू को बताया कि 2017-18 का आंकड़ा नीचे चला या, ऐसा हो सकता है क्योंकि केवल वो शिक्षक जिन्होंने अपनी आधार संख्या प्रदान की थी, उन्हें इस वर्ष के शिक्षकों के रूप में दिखाया गया है.

23 जुलाई 2018 को शिवसेना के सांसद रविंद्र विश्वनाथ गायकवाड़ ने लोकसभा में रिक्तियों के बारे में सवाल किया था. एचआरडी के जवाब में कहा गया "रिक्तियों को उठाना और भरना एक सतत प्रक्रिया है. विश्वविद्यालय स्वायत्त संस्थान हैं, खाली शिक्षण पदों को भरने के लिए उनके साथ निहित है."

ये भी पढ़ें : देश में इस जगह गोलगप्पे खाने पर लगा बैन, वजह चौंकाने वाली

First published: 28 July 2018, 10:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी