Home » इंडिया » terorrist rahman accept to his relation with kandhar plain hijack
 

'अल-कायदा का आतंकी कंधार विमान अपहरण करने वाले को जानता था'

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 June 2016, 17:26 IST

'अलकायदा’ के आतंकी मोहम्मद अब्दुर रहमान ने साल 1999 के कंधार विमान अपहरण और साल 2002 के कोलकाता के अमेरिकन सेंटर में विस्फोट मामले से जुड़े आतंकियों के साथ अपने रिश्ते की बात कबूल की है.

ओडिशा पुलिस की अपराध शाखा के विशेष कार्यबल (एसटीएफ) के एक अधिकारी ने इस मामले में बताया कि रहमान ने कटक में एक पाकिस्तानी आतंकवादी को शरण दी थी.

यह आतंकवादी पाकिस्तान आधारित हरकत-उल-मुजाहिदीन समूह का था, जो काठमांडो से दिल्ली आ रही एयर इंडिया की उड़ान संख्या आईसी-184 का अपहरण कर उसे कंधार ले गया था.

गौरतलब है कि विमान अपहर्ताओं ने यात्रियों को छोड़ने के बदले भारत की जेल में बंद अजहर मसूद की रिहाई की मांग की थी. इस खुलासे के बाद एसटीएफ रहमान से लगातार पूछताछ कर रहा है.

एसटीएफ के अधिकारी ने उसके हवाले से बताया, ‘चूंकि आतंकवादियों में से एक विमान अपहरण में रहमान के नजदीक था, उसे वह कटक लाया और वहां उसे एक खुफिया स्थल पर रखा.’

ओडिशा पुलिस रहमान को 10 दिन की हिरासत पर लाई है. वह शुरू में आतंकवादी संगठनों के साथ अपने रिश्ते कबूल करने से इनकार करता रहा, लेकिन जैसे ही एनआईए और आईबी की तरफ से इकट्ठा सबूत उसके सामने पेश किए गए, तब जाकर उसने अपना मुंह खोला.

अधिकारी ने कहा कि, ‘हम उन जगहों की तस्दीक कर रहे हैं जहां रहमान ने वास्तव में पाकिस्तानी आतंकवादी को शरण दी थी.’

अधिकारी ने बताया कि रहमान का भाई भी साल 2002 के अमेरिकन सेंटर विस्फोट के आरोपियों में शामिल था. रहमान का भाई इस मामले से बरी हो गया था.

अधिकारी ने बताया कि, ‘हम किसी नतीजे पर पहुंचने से पहले दोनों बयानों का सत्यापन करेंगे.’ उन्होंने कहा कि एसटीएफ रहमान के ओडिशा रिश्ते की जांच कर रहा है.

रहमान कटक के पास टांगी में एक मदरसा चला रहा था. उसे दिल्ली पुलिस और ओडिशा पुलिस के संयुक्त अभियान में 16 दिसंबर 2015 को गिरफ्तार किया गया. उसे रिमांड पर दिल्ली से ओडिशा लाया गया.

First published: 23 June 2016, 17:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी