Home » इंडिया » Terror and Naxal attacks decreased in Narendra Modi Government says home ministry report
 

मोदी 'राज' में डरकर घरों में दुबके आतंकी और नक्सली, 5 साल में घटनाओं में आई भारी कमी

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 February 2019, 18:10 IST

साल 2014 में मोदी सरकार के केेंद्र की सत्ता में विराजमान होने के बाद देश में नक्सली और आतंकवादी घटनाओं में भारी कमी आई है. इस बाबत गृह मंत्रालय (MHA) ने एक रिपोर्ट जारी किया है. गृह मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक, मोदी सरकार बनने के बाद देशभर में आतंकी हमलों में गिरावट देखी गई है. हालांकि इस बीच कश्मीर में स्थिति और भी खराब हुई है.

रिपोर्ट के अनुसार, पिछले पांच सालों में देश में सात आतंकी हमले हुए और इन हमलों में आम नागरिकों और सुरक्षाबलों को मिलाकर कुल 11 लोगों की मौत हुई. जबकि सात आतंकियों को मौत के घाट उतारा गया. 

पढ़ें- लोकसभा चुनाव में BJP को पटखनी देंगी बिग बॉस की यह विनर, इस पार्टी से लड़ेंगी चुनाव

रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2014 में देश में 1091 नक्सली वारदातें हुई. इसमें 222 आम नागरिकों और 88 सुरक्षाबलों को जान गंवानी पड़ी. जबकि 63 नक्सली मारे गए. वहीं साल 2015 में 1089 छोटी-बड़ी वारदातें हुईं. जिसमें 171 आम नागरिकों को अपनी जान गंवानी पड़ी जबकि 59 सुरक्षाबल शहीद हो गए. इन हमलों में 89 नक्सलियों को मौत के घाट उतार दिया गया.

जबकि साल 2016 में 1048 नक्सली वारदातें हुईं. इस दौरान 213 आम नागरिकों और 65 सुरक्षाबलों की मौत हुई. जबकि 222 नक्सली मारे गए. साल 2017 में 908 नक्सली घटनाएं हुई और 188 नागरिकों तथा 75 सुरक्षाबलों को अपनी जान गंवानी पड़ी. इस दौरान 136 नक्सलियों को मार गिराया गया.

पढ़ें- इस शख्स ने अपनी गाड़ी के 'खास' नंबर प्लेट के लिए किया इतना खर्च, रकम जानकर खुली रह जाएंगी आंखें

वहीं साल 2018 की बात करें तो इस दौरान 833 नक्सली वारदातें हुईं जिसमें 173 आम नागरिकों और 67 जवानों की मौत हुई. इस दौरान 225 नक्सलियों को ढेर कर दिया गया. हालांकि कश्मीर में हालात कुछ सुधरे नहीं और इस दौरान कश्मीर में साल 2014 में जहां 222 आतंकी घटनाएं हुई थीं, वहीं साल 2018 में यह आंकड़ा 614 पर पहुंच गया है. 

First published: 5 February 2019, 18:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी