Home » इंडिया » The author had already written the book in his book, the script of Neerav Modi's cheat
 

अपनी किताब में लेखक एक साल पहले ही लिख चुका था नीरव मोदी की ठगी की स्क्रिप्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 February 2018, 15:39 IST

देश के एक बड़े सरकारी बैंक को हजारों करोड़ का चूना लगाने वाले नीरव मोदी और मेहुल चौकसी अब दुनिया की नजरों में आये हैं लेकिन एक लेखक ने अपनी नावेल में इस कहानी का जिक्र एक साल पहले ही कर दिया था. सबसे चौकाने वाली बात तो यह है कि इस किताब में विलेन का नाम नीरव चोकसी है. दूसरी और पीएनबी घोटाले में जो मुख्य आरोपी हैं उनके नाम नीरव मोदी और मेहुल चोकसी हैं. यह किताब है लेखक रवि सुब्रमण्यन की 'इन द नेम ऑफ गॉड'. इस किताब में एक बैंक फ्रॉड का जिक्र किया गया है जिसमे डायमंड के कारोबार और बैंकिंग सिस्टम के उससे जुड़े होने की कहानी है.

इस नावेल में नीरव चोकसी हीरे का व्यापारी है जो बॉलिवुड से लेकर हॉलिवुड तक के कलाकार अपनी पार्टियों मर बुलाता है. इसी का इस्तेमाल वह बिजनस बढ़ाने और बैंकों में गड़बड़ियां करने में करता है. बाद में वह सीबीआई की जाल में फंस जाता है. इस किताब में केरल के मंदिर से मुंबई के डायमंड कारोबार तक की कहानी बेहद दिलचस्प अंदाज में लिखी गयी है. लेखक रवि सुब्रमनियन खुद एक बैंकर हैं और उन्होंने ये किताब साल 2015 में लिखी थी.

 

इसको लेकर रवि सुब्रमण्यम कहते हैं कि उन्होंने ये जाम काल्पनिक तरीके से चुने थे. उन्होंने कहा कि 25 साल वह बैंकर रहे हैं और जानते हैं कि गड़बड़ी कहां, किस तरह और किनकी ओर से हो रही है. इससे पहले सुब्रमण्यन ने बैंकिंग और नक्सल फंडिंग पर किताब लिखी थी  और उनका दावा है कि किताब के बाद भी नक्सल फंडिंग उसी अंदाज में पकड़ी गई थी.

गौर करें तो पीएनबी घोटाले में भी असल विलेन नीरव मोदी और मेहुल चोकसी हैं. जिन्होंने पीएनबी से फर्जी दस्तावेज बैंक कर्मियों की मदद से बनाये और पीएनबी को 11550 करोड़ का चूना लगाया. यह बात भी सच है कि नीरव मोदी बॉलीबुड के कलाकारों के करीब हैं. और यह बात भी सामने आयी है कि उनके स्टोर से कई बड़ी हस्तियां नगद में डायमंड की खरीदारी  करते थे.  

First published: 18 February 2018, 15:39 IST
 
अगली कहानी