Home » इंडिया » there are no normal relation between govt and opposition

इंटरव्यू: 'बीते दो सालों में इस सरकार ने उग्र राष्ट्रवाद को जमकर बढ़ावा दिया है- शरद यादव'

 

वरिष्ठ राजनेता और जनता दल युनाइटेड के राज्यसभा सदस्य शरद यादव ने सर्जिकल स्ट्राइक के बाद देश में पैदा हुए उन्मादी माहौल और उससे जुड़े खतरों पर अपनी राय कैच न्यूज़ के संपादक भारत भूषण से साझा की. गौरतलब है कि शरद यादव 1999 से 2004 तक केंद्र में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में नागरिक उड्डयन समेत तमाम महकमों की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं.

सात बार लोकसभा और चार बार राज्यसभा के सदस्य रह चुके शरद यादव मौजूदा सरकार के कामकाज और फौज के प्रति उसकी जरूरत से ज्यादा आसक्ति को देश के लोकतंत्र के लिए खतरे के तौर पर देखते हैं. उनके मुताबिक जिस तरह से चैनल दर चैनल फौज के मौजूदा और रिटायर्ड अधिकारी आक्रामक जुबान बोल रहे हैं उसके कई निहित खतरे हैं. देश की नीतियां लोकतांत्रिक सरकार तय करती है. ऐसा कभी नहीं हुआ कि फौजी देश की चुनी हुई सरकार को सलाह की आड़ में दबाव बनाएं. इसके अलावा भी कई मसलों पर उन्होंने अपनी बात रखी. देखें यह वीडियो इंटरव्यू:

 
भारत भूषण @Bharatitis

Editor of Catch News, Bharat has been a hack for 25 years. He has been the founding Editor of Mail Today, Executive Editor of the Hindustan Times, Editor of The Telegraph in Delhi, Editor of the Express News Service, Washington Correspondent of the Indian Express and an Assistant Editor with The Times of India.