Home » इंडिया » All Party Delegation meets in Delhi on Jammu and Kashmir issue
 

'कश्मीर पर देश की सुरक्षा और संप्रभुता से नहीं करेंगे कोई समझौैता'

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 September 2016, 16:54 IST
(ट्विटर)

कश्मीर के मुद्दे पर बुधवार को दिल्ली में सर्वदलीय बैठक हुई. केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में यह बैठक आयोजित हुई. गृह मंत्रालय ने बैठक में ऑल पार्टी डेलीगेशन में शामिल नेताओं के सुझावों को लेकर एक प्रजेंटेशन भी दिया. 

बैठक के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय में मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि इस बात पर सभी पार्टियों ने सहमति जताई कि सुरक्षा पर कोई समझौता नहीं होगा. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय संप्रभुता पर कोई समझौता नहीं किया जाएगा.

सभी से बातचीत को तैयार

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि सभी पार्टियों ने लोगों से अपील की है कि वो हिंसा के रास्ते पर न चले. साथ ही केंद्र सरकार सभी पक्षों से बातचीत करने को तैयार है.

ऑल पार्टी मीटिंग से पहले घाटी को लेकर आगे की रणनीति पर चर्चा करने के लिए गृह मंत्री राजनाथ सिंह थलसेनाध्यक्ष दलबीर सिंह सुहाग से भी मिले.

सैनिकों की संख्या घटाने का सुझाव

गृह मंत्रालय की प्रजेंटशन में कश्मीर के वर्तमान हालात को लेकर अलग-अलग पार्टियों का नजरिया बताया गया. इसमें नागरिक क्षेत्र में सशस्त्र बल विशेषाधिकार अधिनियम (अफ्स्पा) की समीक्षा भी बात उठी.

कुछ पार्टियों ने कश्मीर में अर्धसैनिक बलों और सैनिकों की संख्या घटाने का सुझाव दिया. कुछ पार्टियों का यह भी मानना है कि महबूबा मुफ्ती की सरकार कश्मीर हिंसा से निपटने में नाकाम रही.

ट्विटर

पीएमओ में राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह ने बैठक के बाद ऑल पार्टी डेलीगेशन का बयान जारी करते हुए कहा कि सभी पार्टियों ने एक सुर में कश्मीर के हालात पर चिंता जाहिर की है. चार सितंबर को राजनाथ सिंह की अगुवाई में 20 पार्टियों के 26 सांसदों ने घाटी का दौरा किया था. हालांकि अलगाववादियों ने महबूबा मुफ्ती के बातचीत के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था.

First published: 7 September 2016, 16:54 IST
 
अगली कहानी