Home » इंडिया » These TV shows have changed main lead too before Angoori Bhabhi
 

अंगूरी भाभी से पहले मशहूर टीवी सीरियल के मुख्य किरदार बदलने की लंबी लिस्ट है

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 8 May 2016, 9:10 IST
QUICK PILL

छोटे पर्दे का मशहूर कॉमेडी सीरियल 'भाबीजी घर पर हैं' बीते कुछ समय से काफी चर्चा में रहा. इसकी वजह यह रही कि इस धारावाहिक की धड़कन कही जाने वाली मशहूर किरदार 'अंगूरी भाभी' यानी अभिनेत्री शिल्पा शिंदे को शो निर्माताओं द्वारा बदलने का फैसला ले लिया गया. शो निर्माताओं और शिल्पा शिंदे के बीच मनमुटाव और विवाद ने इतना तूल पकड़ा कि दोनों ने एक-दूसरे के खिलाफ कानूनी कार्रवाई का फैसला ले लिया.

नतीजा सबके सामने है. अंगूरी भाभी का रोल अब शिल्पा शिंदे की जगह पर शुभांगी अत्रे कर रही हैं. हालांकि शो की पटकथा और किरदार इस तरह से बुने गए हैं नई अदाकारा ने फिलहाल शो को संभाल लिया है और निर्माता भी उन्हें शो में सही ढंग से दिखाने के लिए अतिरिक्त एक्सपोज़र दे रहे हैं. 

पढ़ेंः अकाल मौतों से भरी पड़ी है फिल्मों की चमकीली दुनिया

खैर, भारतीय टेलीविजन इतिहास में भाबीजी घर पर हैं कोई पहला ऐसा धारावाहिक नहीं है जिसके जारी रहने के दौरान ही इसके मुख्य किरदार को बदल दिया गया हो. इससे पहले भी धारावाहिक में काम करने वाले कलाकार और निर्माताओं के बीच के विवाद और अन्य कारणों से शो के बीच में ही बदलाव कर दिया गया. 

जानिए पांच ऐसे मशहूर टेलीविजन शो जिनमें मुख्य किरदार बदले गए.

मिहिर वीरानीः क्योंकि सास भी कभी बहू थी

केबल टीवी आने एक दशक बाद नई शताब्दी की शुरुआत यानी वर्ष 2000 में 6 जुलाई को बालाजी टेलीफिल्म्स द्वारा देश के पहले सबसे मशहूर और 1833 एपीसोड लंबे टेलीविजन धारावाहिक 'क्योंकि सास भी कभी बहू थी' की शुरुआत हुई. इस सीरियल के मुख्य किरदार मिहिर वीरानी (अमर उपाध्याय) और तुलसी (स्मृति ईरानी) थे. यह सीरियल 2008 तक चलता रहा था और अंत तक इसने अपने दर्शक बरकरार रखे.

kyunki saas bhi kabhi bahu thi.jpg

लेकिन शो की शुरुआत के कुछ माह बाद ही 2001 में अचानक मिहिर वीरानी के किरदार की मौत दिखा दी गई. देश भर में प्रसिद्ध हो चुके इस शो में मिहिर की मौत ने दर्शकों में भूचाल सा मचा दिया. परिणामस्वरूप देश भर में मिहिर को जिंदा करो, मिहिर की वापसी को लेकर प्रशंसकों द्वारा धरना-प्रदर्शन किए गए और न जाने कितनी चिट्ठियां, फोन कॉल, ईमेल किए गए. शो निर्माताओं ने भी दर्शकों की नब्ज को पहचानते हुए मिहिर की वापसी की और जिस शो में यह वापसी दिखाई गई उसने आजतक भारत के किसी भी टेलीविजन की सर्वाधिक टीआरपी 22.4 बंटोरी.

शिल्पा शिंदे: भाबीजी अब शायद घर पर ही रहेंगी

न जाने कितने टेलीविजन अवॉर्ड जीतने वाला यह धारावाहिक मिहिर यानी अमर उपाध्याय को ज्यादा लंबे वक्त तक टिकाए नहीं रख सका और इंदर कुमार ने उनकी जगह ली. हालांकि इंदर कुमार कुछ ही वक्त तक रहे और इसके बाद मिहिर का किरदार रोनित रॉय ने निभाया. दर्शकों को यह बदलाव बहुत अटपटा लगा था और यह संभवता भारतीय टेलीविजन इतिहास में पहली बार बीच शो में किरदार बदलने का काम था.

इतना ही नहीं इस धारावाहिक के बीच में एकता कपूर से खटपट होने के बाद तुलसी यानी स्मृति ईरानी ने भी धारावाहिक को टाटा कह दिया था. इनकी जगह गौतमी को लाया गया. लेकिन बाद में खटपट दूर हुई और स्मृति वापस आ गईं.

अनुरागः कसौटी जिंदगी की

तीसरा सबसे ज्यादा चलने वाला यह धारावाहिक 29 अक्तूबर 2001 को शुरू हुआ था. 1423 एपिसोड्स वाले इस सोप ओपेरा के प्रमुख किरदार प्रेरणा (श्वेता तिवारी) और अनुराग (सेज़ैन खान) थे. 

Cezzen Khan+Hiten Tejwani.jpg

दोनों के बीच की प्रेम कहानी दिखाने वाले इस धारावाहिक के भी मुख्य किरदार यानी अनुराग को भी बीच शो में बदल दिया गया था. सेज़ैन खान की जगह अनुराग के किरदार के लिए छोटे पर्दे के मशहूर कलाकार हितेन तेजवानी को लिया गया था. यह धारावाहिक 28 फरवरी 2008 तक चला. 

सुजलः कहीं तो होगा

8 सितंबर 2003 से लेकर 15 सितंबर 2007 तक चलने वाले इस रोमांटिक ड्रामा सीरियल को भी बालाजी टेलीफिल्म्स ने बनाया था. इस सीरियल ने युवाओं को टेलीविजन पर रोमांटिक ड्रामा का दीवाना बनाया. इस धारावाहिक में मुख्य किरदार सुजल ग्रेवाल (राजीव खंडेलवाल) और आमना शरीफ (कशिश सिन्हा) थे. यह धारावाहिक भी 799 एपिसोड्स तक जारी रहा.

rajeev khandelwal+gurpreet singh+amna.jpg

सुजल ने अपनी गंभीर और दीवानगी भरे अंदाज में दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया. लेकिन यह धारावाहिक जब अपने बेहतर वक्त में था तब इसके हीरो यानी सुजल को रिप्लेस कर दिया गया. सुजल यानी राजीव खंडेलवाल की जगह पर गुरप्रीत सिंह को लाया गया और उन्होंने सुजल का किरदार निभाया. गुरप्रीत ने इस सीरियल में तुषार का भी किरदार निभाया था.

आनंदीः बालिका वधू

21 जुलाई 2008 को शुरू हुआ बाल विवाह आधारित यह सोप ओपेरा अभी भी चल रहा है और इसके अब तक 2175 एपिसोड्स आ चुके हैं. इस धारावाहिक को दो सीजन में चलाया गया. पहला सीजन 22 अप्रैल 2016 को 2165 एपिसोड्स के साथ समाप्त हो चुका है. अब दूसरा सीजन चल रहा है. 

pratyusha toral anandi.jpg

इस धारावाहिक की सबसे प्रमुख किरदार आनंदी यानी बालिका वधू है. इसमें बच्ची के रूप में आनंदी का किरदार पहले से लेकर 516 एपिसोड्स तक युविका गौर ने निभाया था. 

पढ़ेंः इसलिए मॉडल्स रैंप पर चलते वक्त मुस्कुराती नहीं हैं

जिसके बाद युवती के रूप में आनंदी का किरदार प्रत्युषा बनर्जी ने निभाया. प्रत्युषा ने इस शो में 516 से लेकर 1214 एपिसोड्स तक काम किया और जमकर प्रसिद्धि बटोरी. लेकिन इसके बाद चार एपिसोड्स तक आनंदी गायब हो गई. और अचानक प्रत्युषा बनर्जी की जगह 1218 एपिसोड में नई आनंदी यानी तोरल रासपुत्र को ले आया गया. 

पार्वतीः देवों के देव महादेव

भगवान शिव पर आधारित यह धारावाहिक 18 दिसंबर 2011 से छोटे पर्दे पर शुरू हुआ. इस धार्मिक धारावाहिक में जमकर स्पेशल इफेक्ट्स का इस्तेमाल किया गया और दर्शकों ने महादेव (मोहित रैना) और पार्वती (सोनारिका भदौरिया) को जमकर पसंद किया. हर घर में पसंद किया जाने वाला यह धारावाहिक 14 दिसंबर 2014 यानी तीन साल तक चला. इस धारावाहिक के 820 एपिसोड्स प्रसारित किए गए. 

sonarika pooja suhasi parvati.jpg

हालांकि बाकी शो की तरह इसमें भी पार्वती का शुरुआती किरदार निभाने वाले सोनारिका भदौरिया को 2013 में पूजा बोस ने रिप्लेस कर दिया. पूजा बोस ने पार्वती की भूमिका तकरीबन एक साल तक निभाई और इसके बाद जून 2014 में पूजा की जगह सुहासी गोरादिया धामी को ले आया गया. इस बीच मौनी रॉय ने भी धारावाहिक में सती-आदिशक्ति और दुर्गा के किरदार निभाए.

First published: 8 May 2016, 9:10 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

पिछली कहानी
अगली कहानी