Home » इंडिया » This hospital of Ahmedabad offers therapy for social media addiction
 

सोशल मीडिया के एडिक्ट लोगों के लिए वरदान है ये अस्पताल, ऐसे करता है इलाज

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 June 2018, 10:14 IST

अहमदाबाद का एक अस्पताल मानसिक बीमारी और सोशल मीडिया की लत से जूझ से लोगों का इलाज करेगा. 'सामवेदना हेप्पीनैस' नाम के इस अस्पताल का रविवार को मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने उद्घाटन किया. इस अस्पाताल को मनोचिकित्सक डॉक्टर म्रुगेश वैष्णव ने बनवाया है. डॉक्टर वैष्णव ने मनोचिकित्सा, सोशल मीडिया एडिक्शन और सेक्स संबंधी बीमारियों का इलाज का दावा किया है.

डॉक्टर म्रुगेश वैष्णव ने सोशल मीडिया एडिक्शन से संबंधित थेरेपी शुरु करने के बारे में कहा कि, “व्हाट्सएप जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म, इंटरनेट और मोबाइल फोन ने इंसान के दिमाग पर पूरी तरह से कब्जा कर लिया है.”

उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया एडिक्शन की वजह से ही पति-पत्नी भी घर पर एक-दूसरे से मैसेज से ही बातचीत करते हैं. जिससे दोनों के बीच व्यक्तिगत संपर्क टूटते जा रहे हैं. ऐसे में उन्हें मनोवैज्ञानिक उपचार और हीयरिंग सेशन और इमरजेंसी आईसीयू की जरूरत है.

बता दें कि मनोचिकित्सकों के मुताबिक सोशल मीडिया एडिक्टेड लोगों को वैवाहिक परेशानियां, मानसिक भ्रम, नींद की कमी और अवसाद का सामना करना पड़ता है. विशेषज्ञ बताते हैं कि सोशल मीडिया का अत्यधिक प्रयोग करने से निराशा, समाज से अलग होना, यौन उत्पीड़न और बलात्कार जैसे मामले बढ़े हैं.

डॉ वैष्णव कहते हैं कि जो व्यक्ति लगातार एक घंटे से अधिक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मस का इस्तेमाल करते हैं. ऐसे लोगों को सोशल मीडिया एडिक्टेड कहा जाता है. ऐसे लोगों को उपचार के माध्यम से सोशल मीडिया एडिक्शन से बाहर निकाला जा सकता है.

वहीं अस्पताल का उद्घाटन करने के बाद मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने डॉक्टर वैष्णव के प्रयासों की सराहना की. उन्होंने कहा कि, “एक समय में जब लोग मानसिक परेशानियों का सामना कर रहे हैं, ऐसे में अस्पताल उनकी परेशानियों को समझेगा और उनका आधुनिक सुविधाओं से इलाज करेगा.”

ये भी पढ़ें- भारत को जरूरत है 60 टैंकर ब्लड की, ऐसे बच सकती है हजारों लोगों की जान

First published: 25 June 2018, 10:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी