Home » इंडिया » this year diwali will be celebrated in ayodhya ram mandir said bjp mp subramanian swamy, ayodhya dispute supreme court
 

'अयोध्या में इसी साल अक्टूबर तक बन जाएगा भव्य राम मंदिर, मनेगी दीवाली'

आदित्य साहू | Updated on: 11 February 2018, 14:13 IST

बाबरी ढांचा और राम मंदिर विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है. 8 फरवरी को सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने अगली तारीख 11 मार्च मुकर्रर की है. अभी तक यह पता नहीं है कि रिजल्ट क्या आएगा. इसके बावजूद भारतीय जनता पार्टी के नेता और सांसद विवादित स्थल पर राम मंदिर बनने को लेकर निश्चिंत हैं. भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने भी एक बयान देकर कहा है कि अयोध्या में इसी साल अक्टूबर तक राम मंदिर बन जाएगा.

भारतीय जनता पार्टी से राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी का कहना है कि अयोध्या में इसी साल अक्टूबर तक राम मंदिर बन जाएगा. वह यहीं नहीं रुके उन्होंने यहां तक कह दिया कि राम मंदिर में इस साल की दीवाली भी सेलिब्रेट की जाएगी. वह दिल्ली युनिवर्सिटी के कॉन्फ्रेंस सेंटर में आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे.

 

विश्व हिंदू परिषद के नेता अशोक स्वामी द्वारा आयोजित किए गए राष्ट्रीय सेमिनार में स्वामी को स्पीकर के रूप में आमंत्रित किया गया था. इस सेमिनार में स्वामी ने कहा, "सारे सबूतों को कोर्ट में एक बार और देखने की जरूरत है. इसमें बहस की कोई जरूरत नहीं है. राम मंदिर के निर्माण का काम अक्टूबर में शुरू हो जाएगा. हम इस दिवाली में वहां दिये जलाएंगे."

कॉन्फ्रेंस सेंटर में स्वामी ने कहा, "भगवान राम हमारे राष्ट्र की अवधारणा के प्रतीक हैं. हम इस साल अयोध्या में ही दिवाली सेलिब्रेट करेंगे, क्योंकि हमें पूरी उम्मीद है कि इस मामले में जो सुनवाई हो रही है उसमें फैसला हमारे पक्ष में ही आएगा. कानूनी कार्यवाही शुरू हो चुकी है और हमारे द्वारा जो भी दस्तावेज और सबूत पेश किए गए हैं वह काफी ठोस और पुख्ता हैं."

 

गौरतलब है कि 8 फरवरी विवादित राम मंदिर और बाबरी मस्जिद मुद्दे की फिर से सुनवाई शुरू हुई है. इस पर पिछली सुनवाई 8 दिसंबर को हुई थी, लेकिन दस्तावेज तैयार नहीं हो पाने पर सुप्रीम कोर्ट ने इसकी सुनवाई 2 महीने के लिए बढ़ा दी थी. तब सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के वकील कपिल सिब्बल ने सुनवाई टालने की मांग करते हुए कहा था कि यह केस सिर्फ भूमि विवाद नहीं है बल्कि राजनीतिक मुद्दा भी है.

कपिल सिब्बल ने कहा था कि चूंकि यह राजनीतिक मुद्दा है इसलिए इसकी सुनवाई साल 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद की जाए, क्योंकि इसका चुनावों पर भी असर पड़ेगा. हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने कपिल सिब्बल की इन दलीलों को बेतुका बताते हुए कहा था कि हम राजनीति नहीं केस के तथ्य को देखते हैं. हालांकि 8 फरवरी की सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने इसकी सुनवाई की अगली तारीख 11 मार्च रखी है.

First published: 11 February 2018, 14:16 IST
 
अगली कहानी