Home » इंडिया » Thunder storm in north india know how to be safe from dust storm
 

अभी बाकी है महातूफान, कहर से बचने के लिए करें ये उपाय

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 May 2018, 9:37 IST

मौसम विभाग ने दिल्ली समेत 13 उत्तरी राज्यों और दो केंद्र शासित राज्यों में आंधी-तूफान और भारी बारिश की चेतावनी जारी की थी. दिल्ली स्थित मौसम केंद्र ने लोगों को सजग रहने की सलाह दी थी. इसके बाद सोमवार शाम को दिल्ली-एनसीआर समेत कई राज्यों में धूल भरी आंधी आई.

पश्चिमी दिल्ली में आंधी शुरू हुई और धीरे-धीरे पूरे दिल्ली के विभिन्न इलाकों के साथ नोएडा-गाजियाबाद को भी अपनी चपेट में ले लिया. आधी रात तक दिल्ली के पुलिस कंट्रोल रूम में एक दर्जन से अधिक सूचनाएं विभिन्न क्षेत्रों से आईं, हालांकि कहीं से बड़े नुकसान की खबर नहीं है.

 

मौसम विभाग ने आज के लिए भी अलर्ट जारी किया गया है. गाजियाबाद में आज स्कूलों की छुट्टी कर दी गई है. पश्चिमी यूपी के कुछ जिलों के साथ पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड में भी स्कूलों में भी छुट्टी रहेगी. मौसम विभाग ने तूफान के मद्देनजर संबंधित राज्यों को हर स्थिति से निपटने के लिए जरूरी इंतजाम करने को कहा है.

ऐसे करें बचाव
एकसाथ इतने बड़े पैमाने पर संभवत: पहली बार चेतावनी जारी की गई है. विशेषज्ञों का मानना है कि इसका सबसे बड़ा कारण वातावरण से लगातार खिलवाड़ है. इसके चलते प्राकृतिक आपदाएं आती हैं और तबाही मचाती हैं.

मौसम विज्ञानियों का कहना है कि यदि बहुत जरूरी हो तो ही यात्रा करें. आंधी आने पर गाड़ी को किसी सुरक्षित जगह पर खड़ी कर लें. तूफान में फंसने पर सबसे पहले किसी छत की तलाश करें. घर के अंदर हैं तो खिड़कियों से दूर रहें. खिड़कियां और दरवाजे अच्छी तरह बंद करने के बाद इनके आसपास कोई भारी सामान रख दीजिए.

पढ़ें- पत्थरबाजी का शिकार हुए चेन्नई के टूरिस्ट की मौत, CM मुफ़्ती ने घटना को बताया शर्मनाक

इसके अलावा बाहर हैं तो ऐसी जगह खड़े हों जहां आसपास लंबे पेड़, दीवार, बिजली का खंभा या धातु के उपकरण न हों. गाड़ी के अंदर रेडियो न चलाएं. रेडियो चलाने से आप आसमानी बिजली की चपेट में आ सकते हैं.

 

First published: 8 May 2018, 9:25 IST
 
अगली कहानी