Home » इंडिया » Thunderstorm and heavy rain across north india 41 dead several injured
 

कुदरत की विनाशलीला ने लील ली 41 लोगोंं की जिंदगी, आज भी आ सकता है भयंकर तूफान

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 May 2018, 8:28 IST

रविवार (13 मई) शाम को धूल भरी आंधी और तेज हवाओं के साथ आया तूफान ने देश के कई राज्यों में भारी तबाही मचाई. दिल्ली-एनसीआर और यूपी सहित कई राज्यों में आई कुदरत की विनाशलीला ने कई लोगों की जिंदगी लील ली. इस कहर में कम से कम 41 लोगों की मौत हो गई वहीं दर्जनों लोग घायल हो गए.

दिल्ली समेत उत्तर भारत में कई जगहों पर आई प्रचंड आंधी के चलते बड़ी संख्या में पेड़ गिर गये जिससे सड़क, रेल एवं वायु सेवाएं प्रभावित हुईं. इस बीच भाजपा सांसद हेमा मालिनी भी आंधी की चपेट में आने से बाल-बाल बचीं. दरअसल, उनके काफिले के आगे पेड़ गिर गया, लेकिन वक्त रहते ड्राइवर ने गाड़ी कंट्रोल कर ली और किसी प्रकार की दुर्घटना नहीं होने पाई.

 

उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश और राजधानी दिल्ली में रविवार देर शाम आंधी-तूफान और बारिश ने जमकर कहर बरपाया. उत्तर प्रदेश में आंधी के कारण 18 लोगों की मौत हो गई जबकि पश्चिम बंगाल में 4 बच्चों समेत 12 लोगों की मौत की खबर आई. आंध्र प्रदेश में 9 और दिल्ली में 2 लोगों के मरने की खबर है.

उत्तर प्रदेश में बिजली गिरने से 100 से ज्यादा घर खाक हो गए. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, संभल के राजपुरा में बिजली गिरने के चलते आग ने घरों को अपनी चपेट में ले लिया. देखते ही देखते 100 घर जलकर राख हो गए. फिरोजाबाद में आंधी-तूफान के साथ-साथ तेज बारिश और ओले भी गिरे. अलीगढ़ में 12वीं तक के सभी स्कूलों को सोमवार को बंद रखने का आदेश दिया गया.

आज भी आंधी के अलर्ट को देखते हुए यूपी के सीएम् योगी आदित्यनाथ ने सभी जिलाधिकारियों को अपने जिले में रहने के निर्देश दिए हैं. साथी ही राहत कार्यों में तेजी लाने को कहा है.

First published: 14 May 2018, 8:24 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी