Home » इंडिया » Tis hazari court sentences life imprisonment for five convicts in 2014 Danish woman gang rape case
 

दिल्ली: डेनिश गैंगरेप केस में पांच गुनहगारों को उम्र कैद

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 June 2016, 14:55 IST

दिल्ली की तीस हजारी अदालत ने डेनमार्क की महिला से गैंगरेप के मामले में पांच दोषियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. 2014 में डेनिश महिला से सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया था.

तीस हजारी कोर्ट ने छह जून को इस मामले में पांच अभियुक्तों को दोषी करार दिया था. आदेश सुनाने के बाद, अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश रमेश कुमार ने सजा से जुड़ी दलीलों की सुनवाई के लिए नौ जून का दिन तय किया था.

छह जून को दोषी करार

अभियुक्तों को भारतीय दंड संहिता की धारा 376-डी (सामूहिक बलात्कार), 395 (डकैती), 366 (अपहरण), 342 (गलत ढंग से बंदी बनाना), 506 (आपराधिक धमकी) और 34 (साझा इरादा) के तहत दोषी करार दिया गया था.

पढ़ें: दिल्ली: डेनिश महिला से गैंगरेप में पांच अभियुक्त दोषी करार

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश रमेश कुमार ने 26 मई को इस केस में दिल्ली पुलिस और बचाव पक्ष के वकीलों की दलीलें सुनने के बाद फैसले की तारीख छह जून रखी थी. गुरुवार को अदालत ने इस मामले में दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद आज सजा सुनाने का एलान किया था.

14 जनवरी 2014 को गैंगरेप

आरोप है कि 14 जनवरी 2014 को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के पास नौ लोगों ने चाकू की नोंक पर डेनमार्क की एक महिला के साथ दुष्कर्म किया. पीड़ित महिला पहाड़गंज इलाके में स्थित अपने होटल का रास्ता पूछने के लिए रुकी थी.

पुलिस के मुताबिक पीड़ित महिला को डिवीजन रेलवे ऑफिसर्स क्लब के करीब एक सुनसान जगह पर ले जाया गया, जहां उसका सामान छीनने के बाद दुष्कर्म को अंजाम दिया गया.

इस मामले में अर्जुन, राजू उर्फ छक्का, मोहम्मद राजा, महेंद्र उर्फ गंजा, राजू उर्फ बज्जी और श्यामलाल पर 52 वर्षीय डेनमार्क की महिला के साथ दुष्कर्म का आरोप था.

छठे आरोपी श्यामलाल की फरवरी 2016 में तिहाड़ जेल में मौत हो गई, जिसके बाद उसके खिलाफ सुनवाई को रद्द कर दिया गया. इस मामले के तीन नाबालिग आरोपियों की सुनवाई जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड में चल रही है.

First published: 10 June 2016, 14:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी