Home » इंडिया » topper scam vikas kumar taking 5 to 10 lakh for toppers in bihar
 

बिहार टॉपर घोटाला: टॉप कराने के एवज में अभियुक्त विकास लेता था 5 से 10 लाख रुपये

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 August 2016, 15:47 IST
(एजेंसी)

बिहार में शिक्षा के नाम पर कलंक बन चुके टॉपर घोटाले में नया खुलासा हुआ है. इस मामले में जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्तों में से एक विकास कुमार छात्रों को टॉप कराने के एवज में 5 से 10 लाख रुपये लेता था.

बिहार के खुफिया विभाग और पुलिस ने पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24-परगना जिले के महेशतला इलाके से अभियुक्त विकास कुमार को गिरफ्तार किया.

विकास इंटरमीडिएट के छात्रों से उनकी उत्तर पुस्तिकाएं बदलने के लिए पांच से दस लाख रुपए तक लेता था.

गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने उसे स्थानीय कोर्ट में पेश किया, जहां कोर्ट ने उसे ट्रांजिट रिमांड पर बिहार पुलिस को सौंप दिया.

बताया जा रहा है कि जबसे बिहार टॉपर घोटाला सुर्खियों में आया था, विकास उसी समय से भूमिगत था. जांच में पुलिस को पता चला है कि उसने इन्हीं पैसों से हाल ही में कोलकाता में एक करोड़ से ज्यादा कीमत का एक प्लैट भी खरीदा है.

पुलिस के मुताबिक विकास कुमार बिहार विद्यालय परीक्षा समिति में क्लर्क के साथ-साथ स्टोरकीपर के पद पर तैनात था.

पुलिस ने कोर्ट में बताया कि विकास छात्राओं से उनकी उत्तर पुस्तिकाएं बदलने के एवज में पांच से दस लाख रुपये तक लेता था.

First published: 11 August 2016, 15:47 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी