Home » इंडिया » trafficking of minor girls from west bengal are the worst
 

रिपोर्ट: नाबालिग लड़कियों की सबसे ज्यादा खरीद-फरोख्त पश्चिम बंगाल में

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:50 IST
(क्राई )

भारत में होने वाली नाबालिग लड़कियों की खरीद-फरोख्त में 42 फीसदी पश्चिम बंगाल से खरीदी जाती हैं. गैर सरकारी संगठन क्राई (चाइल्ड राइट्स एंड यू) की मंगलवार को जारी रिपोर्ट में ये खुलासा हुआ है.

क्राई की रिपोर्ट में 2014 के राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) से मिले आंकड़ों का अध्ययन किया गया है. रिपोर्ट के मुताबिक देश में नाबालिग लड़कियों की खरीद से जुड़े करीब 75 फीसदी मामले केवल चार राज्यों से आ रहे हैं.

वहीं देश में नाबालिग बच्चियों की सर्वाधिक खरीद-फरोख्त में पश्चिम बंगाल का रिकॉर्ड सबसे खराब है और यह पहले नंबर पर है. रिपोर्ट के मुताबिक पश्चिम बंगाल में खरीद-फरोख्त के सबसे ज्यादा 42 फीसदी मामले दर्ज किए गए हैं. जबकि दूसरे, तीसरे और चौथे स्थान पर असम, बिहार और ओडिशा हैं.

वहीं हरियाणा में इस तरह के 14 फीसदी मामले दर्ज किए गए हैं. क्राई की रिपोर्ट के मुताबिक देश में होने वाली बच्चियों की तस्करी 97 फीसदी मामले इन्हीं चार राज्यों के हैं.

क्राई के क्षेत्रीय निदेशक अतिन्द्र नाथ दास ने कहा कि सरकारी आंकड़े से मिले मौजूदा रुझान के मुताबिक पश्चिम बंगाल सहित कुछ अन्य राज्यों में बच्चों के लापता होने की घटना बढ़ती ही जा रही है.

लापता बच्चों और संगठित अपराध के बीच बेहद करीबी संबंध है. 2014 के लापता बच्चों के आंकड़े से पता चलता है कि गुमशुदा बच्चों में 70 फीसदी केवल लड़कियां ही हैं.

First published: 25 May 2016, 2:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी