Home » इंडिया » Tried to explain them that the incident is huge but it isn't an incident of racial discrimination: Sushma Swaraj
 

सुषमा स्वराज: अफ्रीकियों पर हमला पीड़ादायक, नस्लीय हिंसा नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:50 IST
(फाइल फोटो)

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा है कि हाल के दिनों में अफ्रीकी मूल के नागरिकों पर हमले के मामले दुर्भाग्यपूर्ण और पीड़ादायक हैं, हालांकि सुषमा ने नस्लीय भेदभाव के आधार पर हमले की बात से इनकार किया है. 

इससे पहले अफ्रीकी छात्रों के प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की. इस दौरान विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह भी मौजूद रहे. दिल्ली में हाल ही में कांगो के ओलिवर नाम के युवक की हत्या का मामला सामने आया था.

इसके अलावा दक्षिणी दिल्ली के राजपुर खुर्द समेत देश के कई हिस्सों में अफ्रीकी मूल के नागरिकों पर हमले हुए थे. इसके विरोध में दिल्ली के जंतर-मंतर पर सोमवार को अफ्रीकी छात्रों ने प्रदर्शन करते हुए सुरक्षा देने की मांग की थी.

अफ्रीकी छात्रों से मुलाकात

अफ्रीकी छात्रों के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा, "मैंने अफ्रीकी छात्रों के डेलिगेशन और दो नेताओं से मुलाकात की. मैंने उन्हें कहा कि हमलों के मामले न सिर्फ दुर्भाग्यपूर्ण हैं, बल्कि पीड़ादायक भी हैं."

पढ़ें: अफ्रीकियों पर हमला: वीके सिंह ने बताया मामूली झड़प, मीडिया पर जड़ी तोहमत

सुषमा स्वराज ने इस दौरान कहा, "मैंने उन्हें ये समझाने की कोशिश की कि ये बड़ी घटना है, लेकिन नस्लीय भेदभाव जैसा कुछ भी नहीं है. मैंने उन्हें सुरक्षा का भरोसा दिया है."

वीके सिंह के ट्वीट पर विवाद

विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह ने दिल्ली में अफ्रीकियों पर हमलों के मामले को मामूली झड़प बताया था. वीके सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा था कि मीडिया मामूली घटना को बढ़ा-चढ़ाकर पेश कर रहा है.

यही नहीं पूर्व थल सेनाध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने ये भी कहा था, "मीडिया ऐसा क्यों कर रहा है? जिम्मेदार नागरिकों के तौर पर हमें उनसे उनके उद्देश्यों को लेकर सवाल करने चाहिए." हालांकि इस मामले में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से बातचीत करते हुए सख्त कार्रवाई की अपील की थी.

पढ़ें: दिल्ली में टैक्सी ड्राइवर पर अफ्रीकी नागरिकों का हमला

वहीं सोमवार को दिल्ली के छतरपुर इलाके में एक टैक्सी ड्राइवर के साथ अफ्रीकी मूल के लोगों ने मारपीट की थी. जिसमें उसे चोट आई थी. टैक्सी ड्राइवर नूरुद्दीन का आरोप है कि उसने टैक्सी में चार से ज्यादा सवारियों को ले जाने से इनकार कर दिया था. पुलिस ने इस मामले में एक अफ्रीकी महिला को हिरासत में लिया था.

First published: 31 May 2016, 4:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी