Home » इंडिया » Triple talaq case: Supreme Court today says right now we may not hear all three issues -Polygamy, Nikah and Halala but might hear later
 

सुप्रीम कोर्ट: बहुविवाह और निकाह हलाला की भी होगी समीक्षा

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 May 2017, 13:03 IST

तीन तलाक के मुद्दे पर सुनवाई करते हुए सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वो तीन तलाक के साथ-साथ बहुविवाह और निकाह हलाला की भी समीक्षा करेगा, लेकिन कोर्ट अभी तीन तलाक पर ही अपनी सुनवाई करेगा.

सुप्रीम कोर्ट में  तीन तलाक पर पांच जजों की संवैधानिक पीठ सुनवाई कर रही है. सोमवार को सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि मुस्लिमों में होने वाले बहुविवाह और निकाह हलाला की भी समीक्षा होगी. सरकार की तरफ से पेश मुकुल रोहतगी ने कोर्ट से इसकी मांग की थी. 

कोर्ट ने सुनवाई के दौरान साफ कहा कि अभी तीनों मामलों पर सुनवाई करने के लिए समय काफी कम है. कोर्ट में हम अभी सिर्फ ट्रिपल तलाक पर ही सुनवाई करेंगे. इससे पहले पिछली सुनवाई में कोर्ट ने कहा था कि बहुविवाह की समीक्षा नहीं होगी.

'क्यों नहीं खत्म कर सकते तीन तलाक?'

कोर्ट में सुनवाई के दौरान अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने कहा कि अगर सऊदी अरब, ईरान, इराक, लीबिया, मिस्र और सूडान जैसे देश तीन तलाक जैसे कानून को खत्म कर चुके हैं, तो हम क्यों नहीं कर सकते. ट्रिपल तलाक को लेकर सुप्रीम कोर्ट में 11 मई से सुनवाई चल रही है.

शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा था कि हम सिर्फ ये समीक्षा करेंगे कि तलाक-ए-बिद्दत यानी एक बार में तीन तलाक और निकाह हलाला इस्लाम धर्म का अभिन्न अंग है या नहीं. सुप्रीम कोर्ट  की संवैधानिक पीठ इस मुद्दे को इस नजर से भी देखेगी कि क्या तीन तलाक से मुस्लिम महिलाओं के मूलभूत अधिकारों का हनन हो रहा है या नहीं.

सीनियर वकील राम जेठमलानी भी तीन तलाक की एक पीड़िता की ओर से पेश हुए. उन्होंने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 14 और 15 सभी नागरिकों को बराबरी का हक देते हैं और इनकी रोशनी में तीन तलाक असंवैधानिक है. 

जेठमलानी की राय में महिलाओं से सिर्फ उनके लिंग के आधार पर भेदभाव नहीं हो सकता और सुप्रीम कोर्ट में तय होने वाला कोई भी कानून भेदभाव को बढ़ावा देने वाला नहीं होना चाहिए. दरअसल सुप्रीम कोर्ट में पहले से तय समय के मुताबिक सुनवाई 19 मई तक जारी रहेगी. इस दौरान बेंच रोजाना इस मामले पर सुनवाई करेगी.

First published: 15 May 2017, 13:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी